Ahmedabad बेटा काम से बाहर गया तो बचा, लौटा तब तक हो चुका था हादसा, पिता की मौत

Ahmedabad बेटा काम से बाहर गया तो बचा, लौटा तब तक हो चुका था हादसा, पिता की मौत

nagendra singh rathore | Updated: 12 Aug 2019, 05:49:57 PM (IST) Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

तीन साल से पिता कर रहे थे कैटरर्स में काम, बेटा भी

 

अहमदाबाद. बोपल इलाके में सोमवार सुबह जर्जरित इमारत के अचानक धराशायी होने की घटना में पिता की मौत हो गई। बेटा भी पिता के साथ इसी जगह कैटरिंग में काम करता है। वह किसी काम से बाहर गया था, इसलिए बच गया। काम से लौटा तब तक टंकी गिर चुकी थी। पिता की मौत हो गई थी।
ये दर्दनाक हादसा मूलरूप से उत्तरप्रदेश के आगरा जिले में पिनाहट के पास अर्जुनपुरा के रहने वाले रामहरी कुशवाह के साथ हुई। रामहरी कुशवाह बीते तीन सालों से बोपल इलाके में भंडारी कैटरर्स के यहां काम करते थे। उनके साथ उनका बेटा अनिल भी काम करता है।
अनिल ने बताया कि वह और उनके पिता दोनों सुबह काम पर गए थे। पिता रामहरी अन्य लोगों के साथ काम कर रहे थे। वह भी काम कर रहा था, लेकिन एक अन्य काम के सिलसिले में वह बाहर गया। जब लौटा तो देखा शेड पर जर्जरित पानी की इमारत गिरी पड़ी थी। उसमें उनके पिता सहित अन्य लोग दबे थे। जिन्हें निकाला और उन्होंने अपने पिता को गंवा दिया। यह कहते ही अनिल की आंख में आंसू आ जाते हैं और वह अपने आप को नहीं रोक पाते।
रामहरी की पत्नी ब्रजेशदेवी भी इस दुखद घटना को सुनकर सोला सिविल अस्पताल पहुंचीं। बिलखती हुई बताती हैं कि सुबह ही उनके पति व उनका पुत्र गोधावी स्थित घर से काम पर बोपलगए थे। उनके चार बच्चे हैं। अब उन्हें पालने वाला ही चला गया। वे क्या करेंगीं। अन्य परिजन उन्हें ढांढस बंधाते हैं। ब्रजेश कुमारी के भाई अर्जुन बताते हैं कि उन्हें भी पता चला तो वह दौड़कर यहां पहुंचे हैं।

Family
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned