रीढ़ की हड्डी में ऑपरेशन के बाद उत्पन्न कूबड़ से दिलाई मुक्ति

सिविल अस्पताल में जटिल सर्जरी

By: Omprakash Sharma

Updated: 17 Oct 2020, 09:28 PM IST

अहमदाबाद. पूर्व में कराए गए रीढ़ की हड्डी (स्पाइन) के ऑपरेशन के बाद फिर से पीड़ा से घिरे मरीज का जटिल ऑपरेशन करना पड़ा। निजी अस्पताल में चार लाख रुपए तक के खर्च होने के बावजूद ठीक होने या न होने की बात कही गई। जिससे अहमदाबाद के सिविल अस्पताल पहुंचे मरीज को आखिर पीड़ा से मुक्ति मिल गई। सिविल अस्पताल में हर वर्ष रीढ़ की हड्डी के सैकड़ों की संख्या में जटिल ऑपरेशन किए जाते हैं। कोरोना काल में ही स्पाइन संबंधित 146 जटिल ऑपरेशन किए गए हैं।
अहमदाबाद शहर में रहने वाले वसंतभाई सोलंकी की कमर में दर्द होने के कारण किसी अस्पताल में डेढ़ वर्ष पूर्व ऑपरेशन करवाया था। उस दौरान पीड़ा से मुक्ति मिली थी, लेकिन पिछले छह माह से मरीज को फिर से पीड़ा ने घेर लिया। वसंतभाई को अचानक चलने में कठिनाई होने लगी। उनकी पीठ के निचले हिस्से में असहनीय दर्द शुरू हो गया था। रीढ़ की हड्डी के जिस भाग में ऑपरेशन किया गया था उसमें एक कूबड़ भी उत्पन्न हो गया था। जिससे वसंतभाई को सोने बैठने में भी परेशानी होने लगी है। कई निजी अस्पतालों और सरकारी अस्पतालों में दिखाया गया लेकिन आशा की किरण नजर नहीं आ रही थी। पिछले दिनों वसंतभाई को रीढ़ की हड्डी के एक विशेषज्ञ के पास ले जाया गया जहां ऑपरेशन से मना कर दिया गया। इसके बाद एक चिकित्सक चार लाख रुपए के खर्च पर ऑपरेशन को राजी हो गए थे लेकिन मरीज को आराम पड़े इसकी गारंटी नहीं ली गई। पीड़ा से मुक्ति मिलेगी या नहीं इस असमंजस में मरीज को सिविल अस्पताल ले जाया गया। जहां उन्हें भर्ती करवाया गया।

की गई जटिल सर्जरी
सिविल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक एवं स्पाइन विभागाध्यक्ष डॉ. जे.पी. मोदी ने बताया कि वसंतभाई की शारीरिक जांच में पता चला था कि उनकी पूर्व में की गई सर्जरी की जगह पर कूबड़ बन गया है। जिससे पहले जो स्क्रू लगाए गए थे उन्हें हटाकर दूसरी जगह स्क्रू लगाए गए। यह सर्जरी काफी जटिल है। लगभग चार घंटे की सर्जरी सफल रही और धीरे-धीरे वे ठीक होने लगे। डॉ. मोदी के अनुसार न्यूरो मोनिटिरिंग के बीच यह सर्जरी की गई क्योंकि रीढ़ की हड्डी में थोड़ी चूक भी मरीज के लिए भारी पड़ सकती है। उनके अनुसार मरीज के रीढ़ की हड्डी में कहीं-कहीं संक्रमण भी हो गया था। ऑपरेशन के बाद मरीज की हालत ठीक बताई गई है।

कोरोना काल में किए 146 स्पाइन संबंधित ऑपरेशन
सिविल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. मोदी ने बताया कि अस्पताल में कोरोना काल की अवधि में भी स्पाइन संबंधित 146 सर्जरी हो चुकी हैं। ये सभी ऑपरेशन जटिल थे। गौरतलब है कि रीढ़ की हड्डी संबंधित बीमारी के उपचार के लिए सिविल अस्पताल में अन्य राज्यों के मरीज भी आते हैं।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned