राम मंदिर से शुरू, फिर सुजलाम सुफलाम, अंत में गुजरात कनेक्शन

जिले की कलोल में शुक्रवार को आयोजित सभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कांग्रेस को मुद्दों पर अटकाने, लटकाने और

By: मुकेश शर्मा

Published: 09 Dec 2017, 09:48 PM IST

गांधीनगर।जिले की कलोल में शुक्रवार को आयोजित सभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कांग्रेस को मुद्दों पर अटकाने, लटकाने और भटकाने वाली पार्टी बताया। मोदी ने राम मंदिर के मुद्दे से अपनी बात शुरू की और फिर गुजरात में स्वयं के शासन काल में आई सुजलाम सुफलाम योजना की तारीफ के पुल बांधे और अंत में उन्होंने स्वयं का गुजरात कनेक्शन स्थापित करते हुए कहा कि अब आप जनता के दोनों हाथों में लड्डू है। अब आपके जिले में भी गुुजराती होगा और दिल्ली में भी गुजराती। गांधीनगर में पांच सीटों के प्रत्याशियों को एक साथ मंच पर लाया गया था।

सुबह 12 बजे रखी गई सभा में मोदी करीब दोपहर 2 बजे सभा स्थल पहुंचे थे। जैसे ही हैलीकॉप्टर की गूंज सुनाई दी पूरा सभा स्थल मोदी-मोदी के नारों से गूंज उठा। भाषण में मोदी बार-बार अपना गुजरात कनेक्शन जताते नजर आए। भाषण की शुरुआत में ही उन्होंने सवाल किया कि- राम मंदिर मुद्दे पर एक बड़ी पार्टी से संबंध नेता मंदिर मुद्दे पर वकालत कर रहे हैं। वे क्यों नहीं बताते कि आखिर वे किसका पक्ष रख रहे हैं। राम मंदिर का या बाबरी मस्जिद का।

और यदि उन्हें नहीं पता तो वे कांग्रेस पार्टी के नए नेता (राहुल गांधी) से क्यों नहीं पूछते। देश जानना चाहता है कि आखिर आप किसके पक्ष में खड़े हैं। इस मुद्दे को छूते हुए उन्होंने गुजरात में हिंदुत्व के मुद्दे को फिर हवा दी। मोदी की इस बात पर सभा में जय-जय श्रीराम के नारे लगते रहे। मोदी ने आगे कहा कि- कलोल, गांधीनगर जिले ही नहीं पूरे उत्तर गुजरात में आज पानी की समस्या नहीं है। किसके कारण। जवाब जनता ने दिया -मोदी के कारण। तब मोदी ने स्पष्ट किया। मोदी नहीं हमारी सरकार की सुजलाम सुफलाम योजना के कारण। नर्मदा तो कांग्रेस के शासन काल में भी बह रही थी लेकिन उसका फायदा जनता तक सिर्फ भाजपा ने पहुंचाया।

मोदी पर गुस्सा क्यों आता है

मोदी ने मणिशंकर अय्यर का नाम लिए बगैर कहा कि- आखिर ये कांग्रेस नेताओं को मोदी पर इतना गुस्सा क्यों आता है। फिर आगे बोले- इसलिए क्योंकि गुजरात का एक चाय बेचने वाला दिल्ली की कुर्सी पर कैसे बैठ गया। क्योंकि ये कुर्सी तो एक कुटुम्ब के लिए ही आरक्षित मान रहे थे वो। मोदी आगे बोले- मेरे लिए कुर्सी जरूरी नहीं है, देश पहले है। इस पर सभा स्थल तालियों सेे गूंज उठा।

जब बोले- मोदी को हराओ तो सन्नाटा खिंच गया

मोदी ने अंत में कहा कि- आज मैं इस मंच से कहता हूं कि मोदी को हराओ। आप हराओ मोदी को। इस बात पर मंच और सभा स्थल पर सन्नाटा खिंच गया। मोदी ने आगे कहा कि- जब मेरी सरकार थी तो 127 सीटें थीं आप इस बार 150 सीटें जितवाकर मोदी को हराओ।

BJP Congress
Show More
मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned