सफाई कर्मचारियों की हड़ताल, जमकर हुई नारेबाजी

एक ने विषाक्त भी पीया

By: Omprakash Sharma

Published: 24 Dec 2020, 09:23 PM IST

अहमदाबाद. शहर के सफाई कर्मचारी गुरुवार को विरासती हक समेत विविध मांग को लेकर हड़ताल पर उतर गए। बुधवार को एक कर्मचारी ने अत्महत्या के प्रयास में विषाक्त पी लिया। मनपा के उत्तर पश्चिम जोनल ऑफिस के बाहर कर्मचारियों ने जमकर विरोध प्रदर्शन भी किया। जिससे पुलिस बुलानी पड़ी।
हड़ताल पर उतरे सफाई कर्मचारी गुरुवार सुबह उत्तर पश्चिम जोन की मनपा की जोनल ऑफिस के बाहर एकत्र हुए। उस दौरान बढ़ती भीड़ को ध्यान में रखकर जोनल ऑफिस के गेट बंद कर दिए गए। मौके पर पुलिस भी बुलानी पड़ी। किसी को भी ऑफिस में प्रवेश की मंजूरी नहीं दी गई। शहर में ये सभी कर्मचारी अपने काम से दूर रहे। गौरतलब है कि बुधवार शाम को अपनी विविध मांगों को लेकर सफाई कर्मचारी बोडकदेव क्षेत्र स्थित मनपा की ऑफिस में पेशकश करने गए थे। उस समय एक कर्मचारी ने विषाक्त सेवन कर आत्महत्या का प्रयास किया था। जिसे ध्यान में रखकर गुरुवार को नौकर मंडल समेत विविध 10 संगठनों के समर्थन से सफाई कर्मचारी हड़ताल पर उतर गए थे। कर्मचारियों का कहना है कि उनकी मांग स्वीकार नहीं की गई तो अनिश्चित काल की हड़ताल की जाएगी।

मनपा प्रशासन और सरकार के खिलाफ भी की नारेबाजी
सफाई कर्मचारियों ने अपनी लंबित मांगों के लेकर महानगरपालिका प्रशासन और सत्तापक्ष के नेताओं के अलावा राज्य सरकार के खिलाफ भी नारेबाजी की। आक्रोशित कर्मचारियों के कारण पुलिस बुलानी पड़ी। शहर में लगभग 17000 सफाई कर्मचारी हैं। छह हजार से अधिक सफाई कर्म चारी उत्तर पश्चिम जोन में कार्यरत हैं।

मनपा उपायुक्त के खिलाफ शिकायत करने पर अडे
आक्रोशित सफाई कर्मचारी मनपा उपायुक्त व सॉडलिड वेस्ट मैनेजमेंट के अधिकारी के खिलाफ पुलिस शिकायत करने के लिए अडे रहे। नौकर मंडल के अनुसार मनपा उपायुक्त सी.आर. खरसाण और सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के निदेशक हर्षद सोलंकी के खिलाफ पुलिस शिकायत की जाएगी। उनका कहना है कि विरासती हक की मांग पूरी नहीं होने तक यह हड़ताल की जाएगी।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned