scriptजीआईएल की तत्कालीन एक्जीक्यूटिव अकाउंटेंट के पास आय से 624 फीसदी ज्यादा संपत्ति | Patrika News
अहमदाबाद

जीआईएल की तत्कालीन एक्जीक्यूटिव अकाउंटेंट के पास आय से 624 फीसदी ज्यादा संपत्ति

गुजरात एसीबी ने आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया है। जांच में आय से चार करोड़ की ज्यादा की संपत्ति मिली है।

अहमदाबादJun 21, 2024 / 10:14 pm

nagendra singh rathore

ACB

एसीबी मुख्यालय।

गुजरात सरकार के अलग-अलग विभाग, निगमों और कंपनियों में कार्यरत अधिकारियों के अपने पद व अधिकार का दुरुपयोग करते हुए करोड़ों रुपए का भ्रष्टाचार करने की एक और घटना सामने आई है। गुजरात इन्फोर्मेटिक्स लिमिटेड (जीआईएल)गांधीनगर की तत्कालीन एक्जीक्यूटिव अकाउंटेंट रुची भावसार के विरुद्ध उनकी आय से 624 फीसदी अधिक संपत्ति मिली है। यह करीब चार करोड़ रुपए है।
प्राथमिक जांच में इतनी ज्यादा संपत्ति उजागर होने पर गुजरात भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने उनके विरुद्ध गांधीनगर एसीबी थाने में आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया है। एसीबी के तहत जीआईएल गांधीनगर की तत्कालीन एक्जीक्यूटिव अकाउंटेंट रुची भावसार के पास उनकी आय से काफी ज्यादा संपत्ति की जानकारी मिली थी। इसकी प्राथमिक जांच फील्ड तीन के सहायक निदेशक ए वी पटेल के मार्गदर्शन में पीआई डी बी मेहता को सौंपी गई।
उन्होंने एक मई 2017 से लेकर 31 मई 2022 के दौरान रुची भावसार की वैधानिक आय और खर्च तथा इस दौरान उनकी ओर से खरीदी गई चल व अचल संपत्ति का ब्यौरा एकत्र किया। उसका अध्ययन किया। इसमें सामने आया कि उन्होंने अपने अधिकारों का उपयोग करते हुए भ्रष्टाचार करते हुए काफी संपत्ति अर्जित की है। प्राथमिक जांच में सामने आया कि रुची ने इस समयावधि के दौरान वैधानिक रूप से 65 लाख 31 हजार 380 रुपए की आय प्राप्त की है। उसके सामने उन्होंने चार करोड़ 73 लाख 15 हजार रुपए से ज्यादा का चल व अचल संपत्ति में निवेश किया है एवं खर्च किया है। यह संपत्ति उन्होंने खुद व उनके परिजनों के नाम पर खरीदी है। इस लिहाज से उनकी वैधानिक आय की तुलना में उनकी संपत्ति चार करोड़ सात लाख 83 हजार रुपए से ज्यादा है, जो उनकी आय की तुलना में प्रतिशत के लिहाज से 624 फीसदी अधिक है।

गांधीनगर में दो पेंट हाउस, एक प्लॉट, चार कारें

जांच में सामने आया कि रुची भावसार के पास गांधीनगर सरगासण स्थित सिद्धराज जेड प्लस स्कीम में डी 701 और डी 702 नाम के दो पेंट हाऊस हैं। इसके अलावा गांधीनगर कोबा में मनोरम्य रीट्रीट सोसायटी में 375 स्क्वेयर यार्ड का प्लॉट है। काले रंग व सिल्वर रंग की दो स्कोडा कार, एक आई 10 और एक आई 20 कार है।

सहायक निदेशक बने शिकायतकर्ता

रुची भावसार के विरुद्ध गांधीनगर एसीबी थाने में आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज करने में सरकार की ओर से एसीबी गांधीनगर के सहायक निदेशक ए के परमार खुद शिकायतकर्ता बने हैं। मामले की जांच पीआई एम एम सोलंकी को सौंपी गई है।

Hindi News/ Ahmedabad / जीआईएल की तत्कालीन एक्जीक्यूटिव अकाउंटेंट के पास आय से 624 फीसदी ज्यादा संपत्ति

ट्रेंडिंग वीडियो