बिल्डर के अपहरण प्रयास के मामले में तीन गिरफ्तार

बिल्डर के अपहरण प्रयास के मामले में तीन गिरफ्तार

Gyan Prakash Sharma | Publish: Sep, 16 2018 10:58:28 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

सभी तीन दिन के रिमांड पर

आणंद. शहर के वल्लभ विद्यानगर में बिल्डर महिरभाई धीरुभाई पटेल के अपहरण के प्रयास के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर रविवार को अदालत में पेश किया। अदालत ने तीनों को तीन दिन के रिमांड पर सौंपने का आदेश दिया है।
पुलिस उपाधीक्षक बी. डी. जाडेजा ने बताया कि आरोपियों में दाहोद जिले की झालोद तहसील के लीमड़ा गांव निवासी राजेन्द्रकुमार सोलंकी, मांडलीपुर निवासी दनाभाई घांची एवं लीमखेड़ा तहसील के जेतपुर निवासी राकेश भरवाड़ शामिल हैं। तीनों को ओड चौकड़ी के निकट से शराब के नशे में गिरफ्तार किया गया था।
उमरेठ पुलिस की नाकाबंदी में पकड़े गए तीनों ने फिरौती के लिए बिल्डर के अपहरण का प्रयास करने की बात कबूल की। इस मामले में अन्य दो आरोपी भी संलिप्त होने की जानकारी मिली है, जिनकी तलाश जारी है।
उल्लेखनीय है कि वल्लभविद्यानगर में नाना बाजार अरविंद मार्ग निवासी मिहिरभाई धीरुभाई पटेल मोटा बाजार में श्रीराम बिल्डर के नाम से व्यवसाय करते हैं। शुक्रवार रात को मिहिरभाई का घर के निकट से अपहरण करने का प्रयास किया गया था, लेकिन मिहिर के शोर मचाने से आसपास के लोग एकत्रित हो गए और भीड़ को देखकर अपहरणकर्ता फरार हो गए थे। इस संबंध में मिहिर ने वल्लभविद्यानगर पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया था। वल्लभविद्यानगर पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर स्थानीय अदालत में पेश किया।

 

आणंद जिला प्राथमिक संघ के अध्यक्ष पर घपले का आरोप
आणंद. जिला प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष पर तहसील संघों के सदस्यों की फीस के रुपए में घपले का आरोप लगाया गया है।
पेटलाद तहसील शिक्षक संघ के अध्यक्ष रितेश पटेल व शिक्षक नरेन्द्र ने आरोप लगाया है कि आरटीई के तहत मांगी गई जानकारी में यह घपला सामने आया था। इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी (डीडीओ) अमितप्रकाश यादव से शिकायत की गई है।
शिकायत में आरोप लगाया है कि जिला प्राथमिक शिक्षक संघ के संविधान में गैरकानूनी रूप से फेरबदल किया गया है और संघ के अध्यक्ष अरविंदभाई चावड़ा सहित पदाधिकारियों ने संघ की इकाई (तहसील संघ) के सदस्यों से जो फीस ली जाती है, उसमें यह घपला किया गया है।
नियमानुसार सदस्यों से प्रति वर्ष जो फीस ली जाती है उसमें से ६० प्रतिशत हिस्सा वापस दिया जाता है, जबकि ४० प्रतिशत हिस्सा जिला शिक्षा संघ अपने पास रखता है, लेकिन अध्यक्ष सहित पदाधिकारियों ने ४० प्रतिशत रुपए वापस किए और ६० प्रतिशत रुपए अपने पास रखे। शिकायत में आरोप लगाया है कि अध्यक्ष सहित पदाधिकारियों ने २० प्रतिशत हिस्सा अपने पास रखकर घपला किया।


डीडीओ ने जांच सौंपी :
डीडीओ अमित प्रकाश यादव का कहना है कि जिला शिक्षा संघ में घपले के आरोप के साथ कुछ शिक्षकों की लिखित में शिकायत मिली है। इस संबंध में सांख्यिकी अधिकारी को जांच सौंपी गई है और १५ दिनों में रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए गए हैं। रिपोर्ट के बाद भी आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Ad Block is Banned