लड़ाई के लिए स्वस्थ रहना जरूरी: हार्दिक

लड़ाई के लिए स्वस्थ रहना जरूरी: हार्दिक

Uday Kumar Patel | Publish: Sep, 08 2018 10:23:30 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

-अस्पताल में भी पाटीदार नेता का अनशन जारी, उपवास का 15वां दिन

अहमदाबाद.

पाटीदार समुदाय को ओबीसी के तहत आरक्षण दिलाए जाने और किसानों के कर्ज माफी को लेकर गत 25 अगस्त से अनिश्चितकालीन उपवास पर बैठे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने शनिवार को कहा कि लड़ाई के लिए उनका स्वस्थ रहना जरूरी है।
सरखेज-गांधीनगर हाईवे स्थित एसजीवीपी अस्पताल में उपचाराधीन हार्दिक ने ट्वीटर के मार्फत कहा कि वे उन लोगों के लिए जान दे सकते हैं जो उन्हें स्नेह करते हैं और जो उन्हें जिंदा देखना चाहते हैं। पाटीदार नेता ने साथ में यह भी कहा कि वे उन लोगों के लिए नहीं मरेंगे जो उन्हें मारना चाहते हैं।
पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पास) की ओर से जारी बयान में कहा गया कि गांधी के रास्ते पर जारी आंदोलन में भी राज्य सरकार बातचीत के लिए तैयार नहीं है।
पास के प्रवक्ता ने कहा कि गुजरात की जनता की इच्छा है कि हार्दिक पटेल को जीवित रहना चाहिए। इसलिए एक मंत्र दिया है कि जीएंगे तो लड़ेंगे और लड़ेंगे तो जीतेंगे। सभी लोगों की इच्छा पूरी करने के हार्दिक ने पानी पीया है। अब तक हार्दिक ने अन्न ग्रहण नहीं किया है। अनशन अभी भी जारी है।
हार्दिक पटेल की इच्छा है कि गुजरात में शांति स्थापित रहे, इसलिए लोगों को शांति बरकरार रखनी चाहिए।

 

सरकार की ओर से विधिवत निमंत्रण नहीं

पास की ओर से कहा गया कि राज्य के कैबिनेट मंत्री सौरभ पटेल ने गोल-गोल बातें कर उनसे मिलने को कहा था, लेकिन विधिवत रूप से पास की टीम को कोई निमंत्रण नहीं दिया गया है। अल्टीमेटम के बावजूद अब तक सरकार की ओर से कुछ भी नहीं कहा गया है।
पास ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार लोकशाही के बदले तानाशाही पर उतर गई है। राज्य सरकार जानबूझकर हार्दिक से बातचीत नहीं कर रही है। सरकार को प्रेम से बातचीत करनी चाहिए। राज्य सरकार लोकतांत्रिक मूल्यों को बरकरार रखने में विफल रही है।

Ad Block is Banned