बस-कार भिड़ंत में दो की मौत

अन्य पांच घायल, जैन तीर्थधाम से लौटते समय हुआ हादसा

By: Gyan Prakash Sharma

Published: 25 Apr 2018, 10:43 PM IST

आणंद. जिले के धर्मज-तारापुर मार्ग पर माणेज गांव के पास मंगलवार रात को एसटी बस व कार के बीच आमने-सामने की टक्कर होने से कार सवार दो जनों की मौत हो गई, जबकि अन्य पांच जने घायल हो गए। अहमदाबाद निवासी परिवार कार में जैन तीर्थ के दर्शन कर लौट रहा था। इस दौरान रास्ते में यह हादसा हो गया।
जानकारी के अनुसार अहमदाबाद के नरोडा रोड पर कृष्णनगर निवासी सौरिनभाई अरविंदभाई शाह पत्नी कृष्णाबेन, चाचा राजेश, चाची ज्योतिबेन एवं चचेरे भाई सुनेय, भाभी स्वाति एवं उनका पुत्र जैत्र कार से पेटलाद तहसीलके माणेक गांव स्थित मणिलक्ष्मी तीर्थधाम के दर्शन करने के लिए गए थे। दर्शन करके मंगलवार रात को अहमदाबाद की ओर जा रहे थे। इस दौरान रास्ते में एसटी बस एवं कार के बीच टक्कर हो गई। हादसे में कार चालक मुकेश सिंह वाघेला एवं ज्योतिबेन राजेश शाह की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि राजेश, सुनय, स्वाति, कृष्णा एवं सौरिन घायल हो गए। घायलों को एम्बुलेंस की मदद से तारापुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में पहुंचाया, जहां से करमसद के श्रीकृष्ण अस्पताल में रेफर किया गया है।हादसे के बाद बस चालक फरार हो गया। इस संबंध में पेटलाद ग्रामीण पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

 

कार पलटने से चार घायल
आणंद. जिले के बोरसद-तारापुर मार्ग पर बुधवार सुबह ओवरटेक के चक्कर में कार पलटने से चार जने घायल हो गए।
जानकारी के अनुसार बोरसद-तारापुर मार्ग पर बुधवार सुबह तेजी से आ रही कार ने ओवरटेक किया, लेकिन सामने से आ रहे ट्रक को देखकर ब्रेक लगा दिए, जिससे कार डिवाइडर से टकराने के बाद पलट गई। हादसे में कार सवार मयूर दोशी, पंकज जानी, अशोक दवे एवं बिपिन मेहता घायल हो गए। घायलों को करमसद के श्रीकृष्ण अस्पताल में पहुंचाया गया।

 

दूध मंडली के सचिव पर पौने दो लाख के घपले का आरोप
आणंद. जिले की उमरेठ तहसील के लींगडा दूध उत्पादक सहकारी मंडली के सचिव पर एक लाख ८४ हजार रुपए के घपले का आरोप लगाया गया है। इस संबंध में मंडली अध्यक्ष राजूभाई रबारी ने बुधवार को उमरेठ पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया है।
प्राथमिकी में आरोप लगाया है कि मंडली के सचिव कनुभाई राठौड़ ने पद का दुरुपयोग करते हुए एक अप्रेल २०१६ से ३१ मार्च २०१७ तक मिल्क पाउडर, मिल्क रिप्लेसर पाउडर सहित प्रोडेक्टों की बिक्री की थी, लेकिन जो १ लाख ८४ हजार ७२० रुपए आए थे वह मंडली में जमा नहीं कराए थे। वार्षिक ऑडिट के दौरान पूरा मामला उजागर होने से जिला रजिस्ट्रार के निर्देश पर मामला दर्ज कराया गया है।

Gyan Prakash Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned