बारिश से नष्ट हुई फसल सड़क पर फेंकी, होली जलाई

जामनगर जिले के १० गांवों के किसानों का अनोखा विरोध-प्रदर्शन,

जामनगर. जामनगर सहित सौराष्ट्र के अनेक क्षेत्रों में कार्तिक महीने में हुई बारिश के कारण रबी की फसलें नष्ट हो गई थी। ऐसे में अनेक बार सरकार से सहायता की मांग करने के बावजूद सहायता नहीं मिली तो आक्रोशित किसानों ने शनिवार को अनोखा प्रदर्शन किया। जिले के १० गांवों के किसान जामनगर के निकट आमरा गांव में एकत्रित हुए और नष्ट हुई फसलों को सड़क पर फेंका एवं होली जलाई।


आमरा गांव व उसके आसपास के १० गांवों की खेती ज्यादातर बारिश पर आधारित है, जिसमें मुख्य फसल मूंगफली, कपास एवं ज्वार का उत्पादन ज्यादा किया जाता है। मानसून के दौरान हुई अच्छी बारिश से किसानों को अच्छा उत्पादन होने की आशा थी, लेकिन बे-मौसमी बारिश ने किसानों की आशा पर पानी फेर दिया। फसल बर्बाद होने के कारण किसानों की ओर से सरकार एवं बीमा कम्पनी से सहायता की मांग की गई, लेकिन अभी तक उचित सहायता नहीं मिलने से आक्रोशित किसानों ने शनिवार को प्रदर्शन किया।


किसानों का आरोप है कि आमरा सहित आसपास के १० गांवों में बेमौसमी बारिश के कारण फसल नष्ट हो गई है, ऐसे में किसानों पर कर्ज बढ़ गया है। नुकसान की भरपाई नहीं होने के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में आक्रोशित किसानों ने नष्ट हुई फसल रास्ते पर फेंकी और होली जलाई। किसानों ने शीघ्र मुआवजा दिलाने की मांग की है।

Gyan Prakash Sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned