'वायु से मुकाबले के लिए एएमसी ने भी कसी कमर

'वायु से मुकाबले के लिए एएमसी ने भी कसी कमर

Omprakash Sharma | Updated: 12 Jun 2019, 10:55:41 PM (IST) Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

-फायर ब्रिगेड के ५५० कर्मचारी व अधिकारी स्टेंड टू
आधुनिक साधनों से सुसज्जित टीम पांच वाहनों के साथ सौराष्ट्र भेजी

अहमदाबाद. वायु चक्रवात से मुकबले के लिए अहमदाबाद महानगरपालिका ने भी कमर कस ली है। संभावित इस आपदा को ध्यान में रखकर पालडी में मुख्य कंट्रोल रूम शुरू किया गया है, जिसमें इन्जीनियर से लेकर सभी प्रशासन केडर के स्टाफ को जिम्मेदारी भी सौंपी गई है। एएमसी फायरब्रिगेड के पांच वाहनों में आधुनिक साधनों के साथ जवानों को सौराष्ट्र के समुद्रतटीय स्थलों पर भेजा गया है।
वायु चक्रवात को ध्यान में रखकर पालडी स्थित टैगोर हॉल में मुख्य कंट्रोल रूप में शुरू कर दिया गया है। बिजली विभाग के संबंधित कर्मचारियों को भी कंट्रोल रूम में तैनात कर दिया गया है। मुख्य कंट्रोल रूम के अलावा सभी जोन में भी कंट्रोल रूम शुरू किए गए हैं। हरेक में वायरलेस सेट चालू किया गया है। बुधवार शाम को मनपा के संबंधित अधिकारियों ने पूरे शहर में से भयजनक हॉर्डिंग्स को दूर करने की मुहिम भी शुरू की थी। चक्रवात की तीव्रता को ध्यान में रखकर आठ रेस्क्यूवैन, १५ फायर स्टेशनों के कर्मचारियों को स्टेंड टू रखा गया है। इसके अलावा चार ऐसी टीम भी तैयार की गईं हैं जो इमरजेंसी में स्थल तक पहुंच सकें। बगीचा विभाग को भी सतर्क किया गया है, ताकि वृक्ष धराशायी होने पर उनका तत्काल निपटारा हो सके।
हेल्थ विभाग भी स्टेंड टू पर
वायु चक्रवात की आशंका से शहर में स्वास्थ्य विभाग को भी स्टेंड टू पर रखा है। अस्पतालों में जरूरत के आधार चिकित्सकों व स्टाफ की अतिरिक्त व्यवस्था हो सकेगी। इसमें जरूरत होगी तो मुख्य अस्पतालों में अर्बन हेल्थ सेंटर से भी चिकित्सा टीम को बुलाया जा सकेगा।
जनहानि को टालने के लिए संभावित कदम
वायु चक्रवात से जनहानि और सामान के नुकसान नहीं होने के लक्ष्य के साथ अहमदाबाद महानगरपालिका सभी कदम उठाएगी। इसके अलावा पांच वाहनों में आधुनिक साधनों के साथ फायरब्रिगेड के जवानों को द्वारका व पोरबंदर के लिए रवाना कर दिया है। फायर विभाग के अहमदाबाद शहर में लगभग साढ़े पांच सौ कर्मचारी स्टेंड टू पर रहेंगे।
बीजल पटेल, महापौर
अहमदाबाद में वायु का वेग कम होने की संभावना
वायु चक्रवात का वेग अहमदाबाद पहुंचते-पहुंचते कम भी हो सकता है। हालांकि यह कहना मुश्किल है कि शहर में चक्रवात की गति कितनी रहेगी। उन्होंने अनुमान के आधार पर बताया कि शहर में साठ से सत्तर की गति से हवाएं चल सकती हैं।
एम.एफ. दस्तूर, मुख्य अधिकारी फायर ब्रिगेड

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned