11 लाख हेल्थ और फ्रन्टलाइन वर्कर्स को लगेगा वैक्सीन का डोज

vaccine, health, frontline workers, corona vaccine, observation: गुजरात में 1६ जनवरी से प्रारंभ होगा कोरोना वैक्सीन का अभियान

By: Pushpendra Rajput

Updated: 10 Jan 2021, 09:52 PM IST

गांधीनगर. गुजरात में पहले चरण में 11 लाख से ज्यादा हेल्थ व फ्रंट लाइन (health and frontline workers) वर्कर्स को वैक्सीन (vaccine dose) का डोज लगाया जाएगा। 16 जनवरी से गुजरात में भी कोरोना वैक्सीनेशन (corona vaccination) का अभियान प्रारंभ होगा। गुजरात में 16 हजार हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीनेटर (vaccinator) के तौर पर विशेष प्रशिक्षण दिया गया है। वैक्सीनेटर सेन्टर पर मुख्य तीन कक्ष की व्यवस्था की गई है, जिसमें प्रतिक्षा कक्ष, एक वैक्सीन रूम (vaccine room) और एक ऑब्जर्वेशन रूम (observation) होगा। राज्य सरकार (Gujarat government) ने कोल्ड चैन ट्रांसपोर्टेशन (transport) की व्यवस्था की है। साथ ही वैक्सीन की व्यवस्था के लिए छह रिजनल डिपो तैयार किए हैं।

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने रविवार को सोशल मीडिया के जरिए संबोधित करते कहा कि कोरोना महामारी की जंग में भारत दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन करने वाला है। देशभर में 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीन अभियान प्रारंभ होगा। ऐसे में वैक्सीनेशन के लिए गुजरात भी पूर्णत: तैयार है। गुजरात में डाटाबेज का कार्य हो चुका है। चार लाख से ज्यादा हेल्थकेयर वर्कर्स, छह लाख से ज्यादा फ्रंड लाइन वर्कर्स, जिसमें पुलिसकर्मी, सफाई कर्मचारी और कोविड ड्यूटी में प्रत्यक्षतौर पर ड्यूटी करनेवाले ऐसे 11 लाख कर्मचारियों को वैक्सीन का पहला डोज दिया जाएगा।

घर-घर हो चुका है सर्वे

रुपाणी ने कहा कि जिन दो वैक्सीन को मंजूरी मिली हैं वे मेड इन इंडिया है, जो गर्व की बात है। आत्मनिर्भर भारत के सपनों को साकार करने में वैज्ञानिकों की प्रबल इच्छाशक्ति रही है। वैज्ञानिकों के कठिन परिश्रम से वैक्सीन बनाने में सफलता मिली है। इसके लिए वे बधाई के पात्र हैं। गुजरात में घर-घर सर्वे का कार्य पूर्ण हो चुका है, जिसमें 50 लाख से ज्यादा आयु के एक करोड पांच लोग हैं और 50 वर्ष से कम आयु के दो लाख 75 हजार लोग हैं, जो अन्य बीमारियों के शिकार हैं। उनका भी डाटाबेज तैयार हो चुका है।

ट्रायल रन में मिली सफलता

गुजरात में ग्रामीण और शहरी इलाकों में छह स्थलों पर वैक्सीन ट्रायल अप भी किया गया। वैक्सीन सेन्टर पर भी पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी, जहां प्रतीक्षा कक्ष, वैक्सीन रूम और वैक्सीन लेने के बाद कुछ समय निगरानी में रखने के लिए ऑब्जर्वेशन रूम भी बनाया जाएगा।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned