बुजुर्गों का स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए 'वडील सुखाकर सेवा शुरू

कोरोना काल में...
-मेडिकल की 100 टीम लगाईं, प्रतिदिन 2000 बुजुर्गों के घर पहुंचेंगी
-स्वास्थ्य जांच कर विशेष इम्युनिटी बुस्टर दिए जाएंगे

By: Omprakash Sharma

Published: 23 Oct 2020, 11:07 PM IST

अहमदाबाद. कोरोना काल में शहर के बुजुर्गों का ध्यान रखने के लिए अब वडिल सुखाकारी सेवा की नई पहल शुरू की गई है। बुजुर्गों के स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए शहर में शुक्रवार से 100 विशेष टीम कर्यरत की गई हैं। इनके माध्यम से प्रतिदिन शहर के 2000 बुजुर्गों की स्वास्थ्य जांच कर निशुल्क इम्युनिटी बुस्टर प्रदान किए जाएंगे।
अहमदाबाद कोविड इन्चार्ज डॉ. संजीव कुमार गुप्ता की अध्यक्षता एवं मनपा आयुक्त मुकेश कुमार व अन्य अधिकारियों की उपस्थिति मेें शुक्रवार को आयोजित बैठक में यह निर्णय किया गया है। वडिल सुखकारी सेवा की नई पहल से उन बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखा जाएगा जो हाईपर टेंशन, मधुमेह, किडनी संबंधित रोग या अन्य गंभीर रोगों से पीडि़त हैं। उनकी विशेष देखरेख के लिए शहर में शुरुआती चरण में 100 मेडिकल टीम कार्यरत की गई हैं। हरेक टीम में तीन पेरामेडिकल सदस्य होंगे। यह टीम घर बैठे बुजुर्गों की स्वास्थ्य जांच करेंगी। इसमें रक्तचाप , ऑक्सीजन का स्तर, धड़कन, ब्लड सुगर आदि को मापा जाएगा। साथ ही अन्य रोगों के संबंध में भी जानकारी ली जाएगी। इसके बाद उन्हें ऐसी निशुल्क दवाइयां दी जाए्ंगी जिनसे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इनमें आयुर्वेदिक व एलोपेथी आदि औषधि शामिल हैं जो इम्युनिटी बुस्टर का काम करेंगी। बुजर्गों के स्वास्थ्य का विश्लेषण करने के लिए एक मोबाइल फोन आधारित एप भी विकसित किया गया है। जिन बुजुर्गों को कोविड के लक्षण होंगे उनका एन्टीजन टेस्ट भी घर जाकर किया जाएगा। इनमें से किसी की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आती है तो उनके लिए विशेष उपचार के उपाय किए जाएंगे। सौ टीम बुजुर्गों पर ही ध्यान रखेंगी।

समय रहते उपचार मिल सकेगा
मनपा के अनुसार इस योजना से बुजुर्गों का उपचार समय रहते हो सकेगा। जिससे गंभीर स्थिति उत्पन्न नहीं होगी। इससे पहले भी शहर में कोरोना को नियंत्रण में करने के लिए विविध योजनाएं लागू की गई थी। जिसमें संजीवनी रथ आदि शामिल हैं।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned