Crocodile in Vadodara: विश्वामित्री नदी के उफान से वडोदरा शहर में कई जगह दिखे मगरमच्छ दिखे।


-5००० लोगों का स्थानांतरण

 

 

अहमदाबाद. वडोदरा में बरसात के हालात को लेकर मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने गुरुवार को उच्च स्तरीय बैठक में स्थिति की समीक्षा की।

बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि वडोदरा के निचले इलाकों के लगभग 5,000 लोगों को सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाने के अलावा प्रशासन द्वारा 75 हजार फूड पैकेट्स भी तैयार करवाए गए हैं।

मगरमच्छ को लेकर वन विभाग की नजर
रूपाणी ने कहा कि वडोदरा महानगर में बरसाती पानी के साथ मगरमच्छ घुसने की स्थिति पर वन विभाग और एनजीओ नजर रख रहे हैं। अब तक 3 मगरमच्छों को पकड़ा गया है। वन विभाग पूरी सतर्कता के साथ कार्यरत है।

पानी उतरते ही बहाल होगी बिजली आपूर्ति

रूपाणी ने कहा कि वडोदरा में 304 विद्युत फीडरों में से 47 फीडरों में बरसाती पानी भरने के कारण करंट और जानमाल के नुकसान को टालने के लिए सुरक्षा कारणों से उन्हें बंद कर दिया गया है। इससे बिजली आपूर्ति प्रभावित हुई है। बरसाती पानी उतरने के बाद शीघ्र ही इन फीडरों को पूर्ववत कर बिजली आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी। इन फीडरों के बंद होने से वडोदरा के इंद्रपुरी, सरदार एस्टेट, कारेली बाग, मांडवी, पाणी गेट, दांडिया बाजार, रावपुरा टावर, हरिनगर (गोत्री) और समा इलाके प्रभावित हुए हैं। मुख्यमंत्री ने हालात के मद्देनजर वडोदरा वासियों से प्रशासन को सहयोग देने का अनुरोध किया है।

मुख्यमंत्री के साथ इस बैठक में मुख्य सचिव डॉ. जेएन सिंह, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव के. कैलाशनाथन, राजस्व विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पंकज कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव एमके दास, पुलिस महानिदेशक शिवानंद झा सहित राज्य के वरिष्ठ सचिव, सेना, वायु सेना और एनडीआरएफ के अधिकारी भी उपस्थित थे।

 

Uday Kumar Patel
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned