२६० करोड़ के ठगने वाले शाह दंपत्ति विरुद्ध दो और मामले

वस्त्रापुर की ऑफिस सील, राज्यव्यापी गबन की आशंका

 

By: nagendra singh rathore

Published: 14 Nov 2018, 10:56 PM IST

अहमदाबाद. ई-मेल के माध्यम से घर बैठे ऑनलाइन विज्ञापन देखकर निवेश की गई राशि को चंद महीनों में ही दो से तीन गुना करने की लालच देकर करोड़ों की ठगी करने वाले शाह दंपत्ति विनय एवं भार्गवी शाह के विरुद्ध वस्त्रापुर और निकोल थाने में दो और अलग अलग मामले दर्ज किए गए हैं। अब तक तीन प्राथमिकी दर्ज की जा चुकी हैं। राज्यव्यापी ठगी की आशंका को देखते हुए गृह विभाग ने भी रिपोर्ट तलब की है।
ठग दंपत्ति की ओर से अब तक करीब २६० करोड़ रुपए लोगों से ठगे होने की आशंका है। ठगी की पोल खुलने की आशंका देख ठग दंपत्ति अंडरग्राउंड हो गया। उसके विदेश भाग जाने की आशंका है।
आरोपी ठग दंपत्ति के विरुद्ध 12 नवंबर सोमवार को वस्त्रापुर थाने में राहुल जानी (21) ने सबसे पहले प्राथमिकी दर्ज कराई थी। उसमें उन्तीबेन व्यास, दिनेश लेऊवा, भाविन अजमेरा, सौम्य प्रजापति, दिनेश पटेल, राहुलभाई, मनोज परमार, जिगर रावत, अजीत सेंगल सहित दस लोगों को ठगने का आरोप लगाया है। राहुल के पास से ही अकेले एक लाख की ठगी करने का आरोप है। राहुल ने शाह दंपत्ति के अलावा दान सिंह वाला नाम के शख्स पर भी आरोप लगाया है।
यह जानकारी मीडिया में आते ही मंगलवार को वस्त्रापुर थाने में अमित भावसार (४५) ने भी पालडी विकासगृह रोड यूनियन फ्लैट निवासी विनय शाह, उसकी पत्नी भार्गवी शाह और आर्चर केयर,डीजी एड एलएलपी नाम की ऑफिस में काम करने वाली कर्मचारी प्रगतिबेन व्यास के विरुद्ध ठगी का मामला दर्ज कराया है। जबकि निकोल थाने में भी अमित व्यास ने विनय शाह और मुकेश सोनी विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई।
क्राइम ब्रांच पर भी उठे सवाल!
निकोल थाने में शिकायत दर्ज करवाने वाले अमित व्यास ने इस मामले में मीडिया के समक्ष सामने आते हुए अहमदाबाद क्राइम ब्रांच पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि करीब दो महीने पहले ही उन्होंने क्राइम ब्रांच में लिखित में शिकायत देकर इस कंपनी के कामकाज पर सवाल उठाए थे और जांच की मांग की थी, लेकिन कोई कदम नहीं उठाए गए, अब इतना बड़ा घोटाला सामने आया। यदि उसी समय कार्रवाई की होती तो कई और लोग ठगी से बच सकते थे।
प्रेसिडेंट प्लाजा का कार्यालय सील
वस्त्रापुर के थलतेज में प्रेसिडेंट प्लाजा में दूसरी मंजिल पर स्थित आरोपी विनय शाह की कंपनी आर्चर केयर के कार्यालय को बुधवार को पुलिस ने सील कर दिया है। यहां पुलिस की भी तैनाती कर दी है। पीआई एम.एम.जाड़ेजा के अनुसार ऑफिस को सील कर दिया है, ताकि सबूतों से छेड़छाड़ ना हो।

office sealed
nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned