scriptwestern railway, trains, railway station, lights, | पहली थी बॉम्बे , बड़ौदा और सेंट्रल इंडिया रेलवे कंपनी अब पश्चिम रेलवे | Patrika News

पहली थी बॉम्बे , बड़ौदा और सेंट्रल इंडिया रेलवे कंपनी अब पश्चिम रेलवे

western railway, trains, railway station, lights, ; सात दशक हो चुके हैं पश्चिम रेलवे को, रोशनी से जगमग हैं बड़े रेलवे स्टेशन

अहमदाबाद

Updated: November 08, 2021 09:59:54 pm

गांधीनगर. सात दशक पहले पश्चिम रेलवे की पहचान बॉम्बे , बड़ौदा और सेंट्रल इंडिया रेलवे कंपनी (बीबी एंड सीआई) के तौर पर थी। रजवाड़ों ने खुद पटरियां बिछाकर ट्रेनों का संचालन प्रारंभ किया था, लेकिन देश आजाद होने के बाद ५ नवंबर, १९५१ को बॉम्बे , बड़ौदा और सेंट्रल इंडिया रेलवे कंपनी को पश्चिम रेलवे में तब्दील कर दिया गया। मौजूदा समय में पश्चिम रेलवे जोन में अहमदाबाद, वडोदरा, भावनगर, राजकोट, रतलाम और मुंबई मंडल शामिल हैं।
पश्चिम रेलवे ने ५ नवंबर को अपनी स्थापना के ७० वर्ष पूर्ण कर ७१ वें वर्ष में प्रवेश किया है। इस शुरुआत के बाद से पश्चिम रेलवे ने अपनी ७० वर्षों की यात्रा में कई मील के पत्थर हासिल किए हैं। पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आलोक कंसल ने सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को उनके काम के प्रति समर्पण और पश्चिम रेलवे की ओर से उपलब्धियों के लिए बधाई दी।
पहली थी बॉम्बे , बड़ौदा और सेंट्रल इंडिया रेलवे कंपनी अब पश्चिम रेलवे
पहली थी बॉम्बे , बड़ौदा और सेंट्रल इंडिया रेलवे कंपनी अब पश्चिम रेलवे
गुजरात में अंकलेश्वर से उत्राण तक २९ मील दौड़ी थी ट्रेन

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर के अनुसार बॉम्बे , बड़ौदा और सेंट्रल इंडिया रेलवे कंपनी (बीबी एंड सीआई) का गठन १८५५ में किया गया था, जिसकी शुरुआत गुजरात में पश्चिमी तट पर अंकलेश्वर से उत्राण (सूरत) तक २९ मील ब्रॉडगेज ट्रैक के निर्माण के साथ शुरू हुई थी। इसका मुख्यालय सूरत में था। उसी वर्ष २१ नवंबर, १८५५ को कंपनी ने ईस्ट इंडिया कंपनी के साथ सूरत से वडोदरा और अहमदाबाद तक एक रेलवे लाइन बनाने के लिए एक समझौता किया। इसके साथ ही पश्चिमी बंदरगाह में गुजरात में पैदा होने वाली कपास की आपूर्ति करने के लिए उत्राण (सूरत के उत्तर) से तत्कालीन बॉम्बे तक एक लाइन शुरू करने के लिए एक और अनुबंध पर हस्ताक्षर किए गए थे। इसके अगले वर्ष लाइन पर काम शुरू हुआ और उत्राण से बॉम्बे में ग्रांट रोड स्टेशन तक की लाइन को आधिकारिक तौरपर २८ नवंबर, १८६४ को खोला गया। इसके जरिए मुंबई में पश्चिमी लाइन की शुरुआत हुई ।
ठाकुर ने बताया कि मुंबई शहर पश्चिम रेलवे के साथ विकसित हुआ है और इस प्रकार ये दोनों एक दूसरे के विकास के पर्याय बने। पश्चिम रेलवे ५ नवंबर, को अपनी अग्रदूत, तत्कालीन बॉम्बे, बड़ौदा और सेंट्रल इंडिया रेलवे कंपनी (बीबी और सीआई) के अन्य स्टेट रेलवे जैसे सौराष्ट्र, राजपुताना और जयपुर के साथ विलय से अस्तित्व में आई। पश्चिम रेलवे का वर्तमान क्षेत्राधिकार छह डिवीजनों यानी मुंबई सेंट्रल, वडोदरा, अहमदाबाद, राजकोट, भावनगर और रतलाम तक फैला हुआ है।
वहीं १९७२ में, पश्चिम रेलवे ने भारतीय रेलवे नेटवर्क की सबसे महत्वपूर्ण और व्यस्ततम लाइनों में से एक पर अपनी प्रतिष्ठित मुंबई - नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन की शुरुआत की। दुनिया की पहली महिला विशेष ट्रेन, पहली १५- कार उपनगरीय ट्रेन और भारत में पहली पूरी तरह से वातानुकूलित उपनगरीय ट्रेन की शुरुआत से लेकर इसने विभिन्न क्षेत्रों जैसे परिचालन , संरक्षा और अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी को अपनाने में कई प्रथम अर्जित करते हुए अपनी यात्रा के दौरान एक के बाद एक मील के पत्थर स्थापित किए हैं । वर्तमान में, पश्चिम रेलवे के अंतर्गत महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश और राजस्थान के कुछ हिस्सों में ब्रॉड गेज, मीटर गेज और नैरो गेज खंडों को मिला कर ६५४२.३७ किलोमीटर का एक विस्तृत रेलवे नेटवर्क है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Antrix-Devas deal पर बोली निर्मला सीतारमण, यूपीए सरकार की नाक के नीचे हुआ देश की सुरक्षा से खिलवाड़Delhi Riots: दिलबर नेगी हत्याकांड में हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, 6 आरोपियों को दी जमानतDelhi: 26 जनवरी पर बड़े आतंकी हमले का खतरा, IB ने जारी किया अलर्टUP Election 2022 : टिकट कटने पर फूट-फूटकर रोये वरिष्ठ नेता ने छोड़ी भाजपा, बोले- सीएम योगी भी जल्द किनारे लगेंगेपंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशफिल्म लुकाछुपी-2 की शूटिंग पर बवाल, परीक्षा स्थल पर लगा दिया सेट, स्टूडेंट्स ने किया हंगामासोशल मीडिया पर छाया कमलनाथ का KGF अवतार, देखें वीडियोIPL 2022 के लिए लखनऊ टीम ने चुने 3 खिलाड़ी, KL Rahul पर हुई पैसों की बरसात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.