Ahmedabad News : घर रवाना हुए श्रमिक व परिवार

Lock down : लॉक डाउन में स्पेशल ट्रेनों से

By: Rajesh Bhatnagar

Updated: 10 May 2020, 11:31 PM IST

भुज/जामनगर/जूनागढ़/दाहोद/पालनपुर. कोरोना महामारी के कारण लॉक डाउन के चलते गुजरात में अलग-अलग जिलों में फंसे अन्य राज्यों के श्रमिक व परिवारों के सदस्य स्पेशल ट्रेनों से घर रवाना हुए।

1212 जने वाराणसी गए

कच्छ जिले की भुज तहसील से 822, नखत्राणा से 236, लखपत से 149, अबड़ासा से 5 सहित कुल 1212 जने भुज से अब तक तीसरी ट्रेन से रविवार को उत्तर प्रदेश के वाराणसी गए।
इनमें लखनऊ से माता-पिता के साथ आकर द्वारका में भगवान द्वारकाधीश के दर्शनकर भुज में रिश्तेदार के घर पहुंच पिछली 22 मार्च से लॉक डाउन में फंसे सुमित श्रीवास्तव भी शामिल हैं। इनके अलावा भुज की विख्यात होटल में बुलंदशहर के शेफ नंदकिशोर चौधरी, माधापर में बेकरी में रायबरेली निवासी रिन्कु राय के अलावा उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों के श्रमिक शामिल हैं।

1200 जने बरेली रवाना

जामनगर शहर व जिले मेंं कार्यरत उत्तर प्रदेश के श्रमिक व परिवारों के कुल 1200 सदस्य जामनगर जंक्शन से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से शनिवार रात को उत्तर प्रदेश के बरेली रवाना हुए। इससे पहले, रेलवे प्रशासन की ओर से ट्रेन को सेनेटाइज किया गया। जामनगर से अब तक उत्तर प्रदेश के लिए 2 और बिहार के लिए 1 श्रमिक स्पेशल ट्रेन रवाना हुई है।

जूनागढ़ से 1200 खेत श्रमिक व परिवार मध्य प्रदेश गए

जूनागढ़ जिले की भेंसाण तहसील के ग्रामीण क्षेत्रों में खेतों पर काम करने वाले 1200 श्रमिक व परिवारों के सदस्य श्रमिक स्पेशल ट्रेन से मध्य प्रदेश गए। इनमें से छोटे बच्चों व सामान के साथ सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन कर जूनागढ़ रेलवे स्टेशन पहुंचे कुछ श्रमिकों ने जिला प्रशासन का आभार जताया। जिला कलक्टर डॉ. सौरभ पारघी के प्रयासों से दूसरी ट्रेन मध्य प्रदेश रवाना की गई।

100 बच्चों सहित 1281 श्रमिक व परिवार अलीगढ़ रवाना

दाहोद से 100 बच्चों सहित 1281 श्रमिक परिवारों के सदस्य दाहोद रेलवे स्टेशन से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से शनिवार रात को उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ रवाना हुए। जिले में बनाए गए सात शेल्टर होमों में 50 दिन से यह अटके थे। जिला कलक्टर विजय खराड़ी ने शेल्टर होमों का निरीक्षण भी किया था। जिला प्रशासन की ओर से इनके लिए व्यवस्थाएं की गई। तहसीलों के शेल्टर होमों से 40 बसों के जरिए श्रमिकों व परिवारों के सदस्यों के अलावा बच्चों को दाहोद रेलवे स्टेशन पहुंचाया गया। डिजास्टर मैनेजमेंट शाखा के पी.बी. कुंभाणी ने समन्वय किया। जिला कलक्टर खराड़ी के अलावा जिला पुलिस अधीक्षक हितेश जोयसर ने स्टेशन पर व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया।

1300 श्रमिक व परिवारों के सदस्य जालौन गए

बनासकांठा जिले की पालनपुर, दांता, दांतीवाड़ा, धानेरा, सुईगाम तहसीलों में रह रहे मूल उत्तर प्रदेश ेके 1300 श्रमिक व परिवारों के सदस्य पालनपुर रेलवे स्टेशन से शनिवार रात के श्रमिक स्पेशल ट्रेन से उत्तर प्रदेश के जालौन गए।

Rajesh Bhatnagar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned