भारत माता को विश्व गुरू बनाएं युवा

भारत माता को विश्व गुरू बनाएं युवा

Rajesh Bhatnagar | Publish: May, 17 2019 11:58:41 PM (IST) Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

वडोदरा में घनश्याम पंच दशाब्दी महोत्सव में सहजानंद युवा शिविर में मुख्यमंत्री रूपाणी ने कहा

वडोदरा. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि 21वीं सदी भारत की सदी है, युवा आधुनिक तकनीक का उपयोग कर भारत माता को विश्व गुरू बनाएं। उन्होंने कहा कि भारत एक महाशक्ति बनने की ओर बढ़ रहा है। युवाओं की शक्ति ज्ञान शक्ति है, ऐसे में युवाओं को अधिकतम अवसर देकर उनकी रचनात्मक शक्तियों का राष्ट्र निर्माण में उपयोग किया जाएगा।
वे यहां कारेलीबाग स्थित स्वामीनारायण मन्दिर में घनश्याम पंच दशाब्दी महोत्सव के तहत सहजानंदी युवा शिविर का शुक्रवार को उद्घाटन करने के बाद बोल रहे थे। उन्होंने 'आध्यात्मिक नेतृत्वÓ पुस्तक के गुजराती व हिन्दी संस्करण का विमोचन भी किया और ज्ञानजीवनदास स्वामी का आशीर्वाद भी लिया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि समग्र विश्व में भारतीय संस्कृति को उजागर करने के लिए स्वामीनारायण सम्प्रदाय की ओर से हमारी ऋषि परम्परा के अनुरूप आध्यात्मिकता के साथ युवाओं को तैयार किया जा रहा है, इसके परिणामस्वरूप भारत में धार्मिक, आध्यात्मिक व राष्ट्रवाद की नींव मजबूत बन रही है। उन्होंने युवाओं से चुनौतियों का सामना कर समाज व राष्ट्रजीवन में श्रेष्ठ नेतृत्व प्रदान करने की अपील की।
ज्ञानजीवनदास स्वामी ने मुख्यमंत्री को संवेदनशील व बड़े मन के मानव बताते हुए कहा कि जीव मात्र के कल्याण के लिए कार्यरत मुख्यमंत्री के कार्यों से उनका व्यक्तित्त्व उभरा है। उन्होंने गुजरात की सुख-समृद्धि व विकास के लिए मुख्यमंत्री को आशीर्वाद दिया। सन्त वल्लभदास ने भी विचार व्यक्त किए। गुजरात विधानसभा के अध्यक्ष राजेन्द्र त्रिवेदी, महापौर डॉ. जिगिशा शेठ, सांसद रंजनबेन भट्ट, विधायक शैलेष मेहता, मनीषा वकील, सीमा मोहिले, पूर्व मंत्री भूपेन्द्र लाखावाला, सन्त-महन्त आदि भी मौजूद थे।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned