जीका वायरस के मद्देनजर गुजरात में भी आज से रहेगी विशेष नजर

गर्भवती महिलाओं एवं मच्छरजनित रोगों के शिकार हुए मरीजों पर ध्यान देने की ज्यादा जरूरत

By: Omprakash Sharma

Published: 12 Oct 2018, 10:32 PM IST

अहमदाबाद. राजस्थान में जीका वायरस दिखने पर गुजरात सरकार ने सतर्कता बरतना शुरू कर दिया है। शनिवार से संभावित मच्छरों की ब्रीडिंग वाले स्थलों के आसपास स्वास्थ्य विभाग की खास नजर रहेगी। राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को जिला अस्पतालों में वीडियोकॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वायरस से संबंधित गाइडलाइन व महत्वपूर्ण जानकारी दी।

राज्य स्वास्थ्य विभाग के उपनिदेशक डॉ. दिनकर रावल ने बताया कि राजस्थान में पिछले कुछ दिनों में जीका वायरस के २२ मरीज सामने आए हैं। पड़ौसी राज्य में वायरस होने से गुजरात सरकार ने इस संबंध में सतर्कता बरतना शुरू कर दिया है। उन्होंने बताया कि मच्छरों की ब्रीडिंग वाले स्थलों का सर्वे किया जाएगा। बुखार से पीडि़त गर्भवती महिलाओं में इस वायरस का संक्रमण लगने की ज्यादा आशंका रहती है। जिससे ऐसी महिलाओं का भी स्क्रीनिंग किया जाएगा। इसके अलावा मच्छरजनित रोगों से पीडि़त हुए मरीजों की स्क्रीनिंग की जाएगी। इसमें भी डेंगू के मरीजों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। ऐसी कंस्ट्रेक्शन साइटों की भी सूची बनाई जाएगी जिनके आसपास मच्छरों की ब्रीडिंग होने की आशंका रहती है। हालांकि इस वर्ष राज्य में एक भी मरीज इस वायरस का सामने नहीं आया है। गत वर्ष अहमदाबाद शहर में एक मरीज सामने आया था।
रात एक बजे तक मिले गरबे की मंजूरी
जामनगर.शहर में नवरात्र पर्व पर्वके दौरान रात एक बजे तक गरबी की मंजूरी की मांग को लेकर शहर के दो मुस्लिम कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री और पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखा है।इसमें उन्होंने कहा है कि उनकी मांग नहीं मानी गईतो वे दशहरा के दिन आत्मदाह करेंगे।
शहर में गत दिनों देर रात एक होटल के समीप एकत्र हुएदो गुटों में मारपीट को ध्यान में रखते हुएपुलिस ने शहर में देर रात तक चलने वाले लारी गल्लों को को देर रात तक खोलने पर प्रतिबंधलगा दिया था। पुलिस की इस कार्रवाई के दौरान नवरात्र पर्वके दौरान पुलिस ने कानून व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए रात 12 बजे तक ही गरबों की मंजूरी दी है।इसे देखते हुएजामनगर के आरटीआईकार्यकर्ताअब्दुला वली मामद बलोच तथा युनुस अब्दुल सत्तार मुला ने मुख्यमंत्री और पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर गरबों की समय सीमा बढ़ाने की मांग की है।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned