प्यासे हैं जिले के 1212 स्कूल,733 आंगनबाड़ी, 137 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र और 194 ग्राम पंचायतें

किसी भी योजना में नहीं मिला जल कनेक्शन

By: bhupendra singh

Updated: 20 Sep 2021, 10:22 PM IST

भूपेन्द्र सिंह

अजमेर. बरसात कम होने और बीसलपुर बांध में पर्याप्त पानी नही पहुंचने से अभी से पानी की त्राही-त्राही शुरु हो गई है। शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की कटौती भी हो रही है। वहीं मूलभूत आवश्यकता में शामिल पीने का पानी आजादी के बाद भी जिले के 47 फीसदी सरकारी स्कूलों, 48 फीसदी आंगनबाड़ी केन्द्रों, 64 फीसदी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों और 59 प्रतिशत ग्राम पंचायतों/ पंचायत घरो तक नहीं पहुंचा सका है। जिले के 1212 स्कूल,733 आंगनबाड़ी, 137 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र और 194 ग्राम पंचायतों/ पंचायत घरों तक पानी नहीं पहुंचा है। स्कूली बच्चे अपने घर से ही पीने का पानी लाने को मजबूर हैं।

जब इन स्कूलों में पानी ही नहीं है तो शौचालयों का उपयोग कैसे होता होगा अंदाजा लगाया जा सकता है। अस्पताल व आंगनबाड़ी केन्द्रो तक पानी नही पहुंचने से भी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

जल जीवन मिशन भी प्रभावी नहीं

केंद्र और राज्य सरकार द्वारा जहां हर घर में जल कनेक्शन देने की योजना पर कार्य कर रहे है तो वहीं जलदाय विभाग की हालत यह है कि वह आधारभूत सुविधा में शामिल जल को स्कूलों में बच्चों आंगनवाड़ी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और ग्राम पंचायतों तब भी पानी नहीं पहुंचा पाया। जिले में जल जीवन मिशन भी नाकाम साबित हो रहा है।

यह है जिले के स्कूलों की स्थिति

जिले में 2544 स्कूलों में से मात्र 53 प्रतिशत यानी 1332 स्कूलों में ही पानी का कनेक्शन हैं। शेष 47 प्रतिशत स्कूलों के बच्चे पानी के लिए तरस रहे हैं। सर्वाधिक 425 विद्यालय जवाजा में ,156 अजमेर ग्रामीण, सिलोरा में 111, मसूदा में 186, भिनाय में 88, पीसांगन में 57, सावर में 52 स्कूल अभी भी जल कनेक्शन से वंचित हैं। जिले में जवाजा के 452 स्कूलों में से 27 स्कूलों में पानी के कनेक्शन है जो कि जिले में सबसे कम है। अजमेर ग्रामीण में 377 में से 221, अराई में 119 में से 94, भिनाय में 189 से 101 ,केकड़ी में 152 में से 115 मसूदा में 303 में से 117 पीसांगन में 212 में से 155 सरवाड़ में 106 में से 77, सावर में 141 में से 19, श्रीनगर में 201 में से 155, सिलोरा में 293 में से 181 विद्यालयों के बच्चे ही जल की सुविधा उपलब्ध है।

आंगनवाड़ी की स्थिति

जिले की कुल 1567 आंगनबाडिय़ों में से मात्र 52 प्रतिशत पर ही जल कनेक्शन है। शेष 48 प्रतिशत यानी 737 आंगनवाड़ी अभी भी जल कनेक्शन से वंचित है। पंचायत समिति अजमेर ग्रामीण में 196 में से 110, अराई में 117 में से 12 , जवाजा में 225 में से 222, केकड़ी में 103 मै से 54, मसूदा में 192 में से 18, पीसांगन में 101 में से 18,सरवाड़ में 108 में से 68, सावर में 101 में से 62, श्रीनगर में 111 में से 5, सिलोरा में 186 में से 168 आंगनबाडिय़ों पर जल कनेक्शन नहीं है। यहां सौ फीसदी लक्ष्य हासिल भिनाय की सभी 127 आंगनबाडिय़ों में सभी में जल कनेक्शन उपलब्ध हैं।

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र

जिले के214 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में केवल 77 में ही पानी के कनेक्शन है। पंचायत समिति अजमेर ग्रामीण के 13 स्वास्थ्य केंद्रों में से मात्र 8 पर जल कनेक्शन है। अराई में 17 में से 14 में , भिनाय में 32 में से के 8 में, जवाजा में 42 में से केवल 2 में ही जल कनेक्शन है। केकड़ी में 6 में से 5 में, मसूदा में 41 में से 8 ,पीसांगन में 11 में से 7 ,सावर में 11 में से 9 ,श्रीनगर में 7 में से 3 सिलोरा में 24 में से 3 स्वास्थ्य केंद्रों पर पानी का कनेक्शन है।

ग्राम पंचायत भवन भी तरस रहे हैं पानी को

जिले के 329 ग्राम पंचायत भवन में से केवल 135 ग्राम पंचायतों पर ही जल कनेक्शन लगा। अभी भी 194 ग्राम पंचायत भवन जल को तरस रहे हैं। अजमेर ग्रामीण में 36 में से मात्र 8, अराई में 20 में से 1, आराई में 25 में से 23 ,जवाजा में 46 में से केवल 1, केकड़ी में 8 ,मसूदा में 37 ,पीसांगन में 35 में 9, सावर में 21 में से 5, सरवाड़ में 27 में से 7, श्रीनगर में 25 में से 6 , सिलोरा में 32 में से 16 ग्राम पंचायतों / पंचायतघरों में ही जल कनेशन है।

read more: घोषणा तो हुई लेकिन,बिना भवन व कर्मचारियों के कागजों में ही चल रही तहसीलें

Show More
bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned