60 फुट चौड़ी व फोर लेन होगी पालबीचला सडक़

स्मार्ट सिटी व एडीए ने खातेदारों की बात मानी

12 आशियाने उजडऩे से बचे8 मकान पूर्ण व 4 मकान आंशिक रूप से टूटने से बचे

By: bhupendra singh

Published: 07 Sep 2020, 11:18 PM IST

अजमेर. शहर को स्टेशन रोड के समानान्तर वैकल्पिक मार्ग उपलब्ध करवाने के लिए स्मार्ट सिटी के तहत मार्टिंडल ब्रिज से तोपदड़ा स्कूल तक 1.5 किमी नई सडक़ फोन लेन four lane होगी। खातेदारों से वार्ता तथा उनके पक्ष से सहमत होते हुए अब सडक़ की wide चौड़ाई 60 फुट feet ही तय की गई है। इस पर जिला कलक्टर तथा स्मार्ट सिटी के सीईओ तथा अजमेर विकास प्राधिकरण आयुक्त ने सहमति जताई है। अब सडक़ का निर्माण 60 फुट जमीन पर होगा। अब 100 के स्थान पर 60 फुट की चौड़ाई में ही भूमि आवाप्त की जाएगी। इससे अब 23 में 8 मकान टूटने से पूरी तरह बच गए हैं जबकि 4 मकान का कुछ हिस्सा ही सडक़ के लिए आवाप्त होगा।

डीएलसी की दरें मांगी

अजमेर विकास प्राधिकरण के भूमि आवाप्ति अधिकारी ने उप पंजीयक अजमेर को पत्र लिख कर माटिंडल ब्रिज क्षेत्र की डीएलसी दरों (कृषि भूमि, आवासीय, व्यावसायिक) से अवगत करवाने के लिए पत्र लिखा है। साथ ही यदि क्षेत्र की कृषि भूमि की दरें निर्धारित नहीं हो तो यह भी बताएं की क्षेत्र की बारानी चाही आदि किश्म के दस्तावेजों का पंजीयन किस दर तथा कृषि आवासीय पर किया जाता है। यह भी पूछा गया है कि पिछले तीन साल में इस क्षेत्र में किसी भूमि का कृषि की डीएलसी दर पर पंजीयन किया गया है। जिससे कि मुआवजे की गणना की जा सके ।

3.92 हेक्टेयर भूमि चिन्हित

नई सडक़ निर्माण के लिए कुल 3.92 हेक्टेयर भूमि चिन्हित की गई है। इसमें से खातेदारों की 3.12 हेक्टेयर भूमि है जबकि 0.34 हेक्टेयर भूमि पर मकान बने हुए हैं। इस तरह कुल अवाप्त योग्य भूमि 3.46 हेक्टेयर है, 0.807 हेक्टेयर भूमि सरकारी है। सडक़ के लिए 3.928 हेक्टेयर भूमि खातेदारी व 3389 वर्गमीटर आवासीय भूमि स्मार्ट सिटी के तहत अवाप्त किया जाना है। खातेदारी भूमि एवं भूमि पर बनें मकानों का मुआवजा वर्तमान डीएलसी दर से 10 करोड़ रुपए आंका गया है।

read more: स्मार्ट सिटी में अभियंता ही चुन रहे ‘अभियंता ’

bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned