सर्वे में सामने आए 68 अनियमित निर्माण

सर्वे में सामने आए 68 अनियमित निर्माण
अजमेर विकास प्राधिकरण

bhupendra singh | Updated: 23 Aug 2019, 09:38:06 PM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

ईदगाह नाडी में मकान निर्माण का मामला

नोटिस जारी करने की तैयारी में एडीए

अजमेर. ईदगाह क्षेत्र में पिछले सप्ताह नाडी टूटने और आसपास की कॉलोनियों में पानी भरने के बाद अब अजमेर विकास प्राधिकरण हरकत में आया है। प्राधिकरण ने इस इलाके में अनियमित व अवैध निर्माण का सर्वे (survey) शुरू करा दिया है।

इसमें सामने आया है कि करीब 68 लोगों ने नाडी के कैचमेंट एरिया में बिना सक्षम निर्माण के अनियमित कार्य (irregular constructions) किया है, जबकि तीन लोगों ने प्राधिकरण भूमि पर अतिक्रमण कर अवैध निर्माण करा लिया। प्राधिकरण जल्द ही आरोपितों को नोटिस जारी करेगा। वहीं गुरुवार को प्राधिकरण सचिव इंद्रजीत सिंह ने हलका पटवारी के साथ ईदगाह तथा चौरसियावास क्षेत्र का निरीक्षण किया।
पिछले सप्ताह नाडी में बरसाती पानी भरने से कैचमेंट में बने मकान डूबने का खतरा उत्पन्न हो गया था। इससे बचने के लिए कुछ लोगों ने नाड़ी की पाल में कटाव कर दिया। इससे नाड़ी से पानी तेजी से निकलने लगा। इसके चलते किसान कॉलोनी, गौरी नगर, फ्रैड्स कॉलोनी, चौरसियावास क्षेत्र में सडक़ों व गलियों तथा घरों में 3-3 पीट तक पानी भर गया। एडीए व नगर निगम की टीमों ने मोरी से बजरी से भरे कट्टे हटाए। नाडी की पाल पर जेसीबी के जरिए मिट्टी डाली। तब जाकर पानी का बहाव बंद हो पाया।
नाडी का क्षेत्र करीब 16 बीघा

इसके बाद प्राधिकरण अधिकारियों के निर्देश पर क्षेत्र में अवैध निर्माण के सर्वे के लिए कमेटी गठित की गई। सर्वे में सामने आया कि नाडी का क्षेत्र करीब 16 बीघा है, जबकि वर्तमान में सिर्फ 6 बीघा भूमि ही नाडी के रूप में मौजूद है। इसमें भी लगातार अतिक्रमण किया जा रहा है। भूमि के खातेदारों ने कम आय वर्ग के लोगों को नाडी क्षेत्र की खातेदारी जमीनें बेच दी, जहां अब नियमों के विपरीत मकान बन गए हैं। नाड़ी की पाल के पास ही प्राधिकरण की भूमि पर भी अतिक्रमण किया जा रहा है। करीब तीन माह पूर्व नाडी में डूबने से तीन ब"ाों की मौत हो गई थी।

read more: जनाब को ऑन लाइन खाना मंगवाना पड़ा भारी - 380 के चिकन तंदूरी के फेर में गंवाए 85 000

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned