68 अतिक्रमियों ने घोंटा ईदगाह नाड़ी का गला, 16 बीघा की नाड़ी अब 3 बीघा में सिमटी

अतिक्रमण हटाने के निर्णय के एक साल बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

दिन रात हो रहा है ईदगाह नाड़ी पर कब्जा,

आंखे मूंदे बैठे हैं जिम्मेदार

नाड़ी में बस गई अवैध बस्ती

By: bhupendra singh

Updated: 04 Apr 2021, 10:19 PM IST

भूपेन्द्र सिहं

अजमेर. प्राकृतिक जल स्रोतों को बचाने लिए सरकार भले ही लाख दावे करे लेकिन यह हकीकत से कोसों दूर नजर आ रहे हैं। शहर बीच स्थित चौरसियावास ईदगाह नाड़ी Idgah pond का अतिक्रमी दिनरात गला घोंटते हुए कब्जा कर रहे हैं। राजस्व रिकॉर्ड में 16 बीघा की यह नाड़ी वर्तमान में 3 बीघा से भी कम में सिमट गई है। नाड़ी के बीचोबीच अतिक्रमी बेखौफ मकान बनाने में जुटे हैं। ऐसा नहीं है कि जिम्मेदार इससे अनजान हैं। अतिक्रमियों trespassers को हटाने के आदेश 6 महीने पहले ही हो चुके हैं लेकिन जिम्मेदार आंखें मूंदे बैठे हैं। चौरसियावास ईदगाह क्षेत्र में सरकारी भूमि पर नाड़ी के भराव क्षेत्र में अवैध निर्माण के मामले में सर्वे करने के बाद अजमेर विकास प्राधिकरण ada ने 3 अतिक्रमियों सहित 68 लोगों को धारा 67 के तहत नोटिस अगस्त 2019 में ही जारी कर दिए थे। नोटिस पर अतिक्रमियों के जवाब के बाद एडीए उपायुक्त ने अक्टूबर 2020 में ही इस पर निर्णय करते हुए अतिक्रमण हटाने तथा अतिक्रमियों को बेदखल करने के आदेश दिए। इसके बावजूद एक साल से आदेश की पालना करने के बजाय प्राधिकरण के जिम्मेदार अधिकारी व कार्मिक चुप्पी साधे बैठे हैं।16 बीघा जमीन पर अतिक्रमण चौरसियावास गांव के पास स्थित ईदगाह नाड़ी पृथ्वीराज योजना की आवाप्त भूमि है इसके अलावा इसमेंं प्राधिकरण को हस्तांतिर सरकारी भूमि भी है। सर्वे में सामने आया कि नाड़ी का क्षेत्र करीब 16 बीघा है। जबकि वर्तमान में सिर्फ 4 बीघा भूमि ही नाड़ी के रूप में मौजूद है। इसमें भी लगातार अतिक्रमण किया जा रहा है। भूमि के खातेदारों ने कम आयवर्ग के लोगों को नाड़ी क्षेत्र की खातेदारी भूमियां बेच दीं जहां अब अवैध रूप से मकान बन गए हैं। नाड़ी की पाल के पास ही प्राधिकरण की भूमि पर भी अतिक्रमण किया जा रहा है। अब तक 10 अवैध निर्माण हो चुके हैं।

जमीन के साथ ही भवनों व दुकानों की भी बिक्री

ईदगाह नाड़ी क्षेत्र में एडीए की कार्रवाही नहीं होने से बेखौफ अतिक्रमी रातो दिन अवैध निर्माण में जुटे हुए हैं। इतना ही नहीं सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर बनाए गए बहुंजिली भवनों को बेचा भी जा रहा है। चारदीवार, मकान, बाड़ा, कोटड़ी के साथ ही दुकानें भी खोली गई। विद्युत कनेक्शन लेने साथ ही यहां किराएदार भी रखे गए है। सरकारी जमीन बेचने व नाड़ी में कब्जा करने का धंघा खूब फलफूल रहा है।

तबाही हुई तो खुली आखें

ईदगाह क्षेत्र स्थित नाड़ी में आसपास के क्षेत्र बरसाती पानी भरता है। पिछले सप्ताह नाड़ी में बरसाती पानी भरने से कैचमेंट में बने मकान डूबने का खतरा उत्पन्न हो गया। इससे बचने के लिए कुछ लोगों ने नाड़ी की पाल में कटाव कर दिया। इससे नाड़ी से पानी तेजी से निकलने लगा और किसान कॉलोनी, गौरी नगर, फ्रैड्स कॉलोनी,चौरसियावास क्षेत्र में सड़कों व गलियों तथा घरों में 4-4 फुट तक पानी भर गया। वर्ष 2019 में नाड़ी में डूबने से तीन बच्चों की मौत भी हो गई थी इसके बावजूद नाड़ी में कब्जा किया जा रहा है। बच्चों की मौत व आसपास की कॉलोनियों में पानी से हुई तबाही के बाद जिम्मेदारों की आंखे खुली। इसके बाद पाल का कटाव बंद करवाकर अतिक्रमण का सर्वे शुरू हुआ।

नहीं भरने दे रहे नाड़ी में पानी

नाड़ी में बरसाती पानी भरने से कैचमेंट में अवैध रूप से बने मकान डूबने का खतरा उत्पन्न हो जाता है। नाड़ी में लगातार हो रहे कब्जे के कारण अतिक्रमी इसमें पानी नहीं भरने दे रहे हैं। नाड़ी की मोरी को बंद कर दिया गया। जून 2019 में अतिक्रमियों ने नाड़ी की पाल को काट दियाा। एडीए व नगर निगम की टीमों ने मोरी से बजरी से भरे कट्टे हटाए तथा नाड़ी की पाल पर जेसीबी के जरिए मिट्टी डाली का पानी का बहाव बंद किया।

एडीए की नजर में है अतिक्रमी

-साबुद्दीन (चार दुकान सड़क पर ईदगाह के सामने चारदीवारी सहित, विद्युत कनेक्शन)-अंसारअली (दो मंजिल मकान, किराएदार विद्युत कनेक्शन)-मंसूरी पत्नी जहरू शेख (दो कमरे विद्युत कनेक्शन)-रुखसाना पत्नी शेख रहमान (कमरा चारदीवारी विद्युत कनेक्शन)-रहमान अली (दो कमरे शौचालय स्नानघर चारदीवारी विद्युत कनेक्शन, किराएदार रहते हैं)-चिंरजीव (चारदीवारी दो कमरे, रसोई स्नानघर शौचालय विद्युत कनेक्शन)-महेन्द्र चौधरी (चारदीवारी )-समशाद (चारदीवारी)-समशाद (नया मकान)-अज्ञात (चारदीवारी नींव भरी हुई)-अज्ञान (निर्माधीन मकान)-अज्ञात (नींव भरी हुई)-समीर (चार दीवारी सहित पूरा मकान, किराएदार रहते हैं विद्युत कनेक्शन)-कासिम (दो कमरे चारदारी विद्युत कनेक्शन)-दीपक (चारदीवारी कमरा, किराएदार रहता है)-माया धोबी (चारदीवारी कमारा विद्युत कनेक्शन)-अज्ञात (चारदीवारी नया मकान)-अज्ञात (पाल के पास चारदीवारी)-अविनाश आमेटा (चारदीवारी कमरा विद्युत कनेक्शन)-शौकीन (चारदीवारी तीन कमरे विद्युत कनेक्शन)-महावीर प्रसाद सैन (मकान चारदीवारी विद्युत कनेक्शन)-अब्दुल पिता समदा (सड़क पर चारदीवारी कमरे विद्युत कनेक्शन)- हासम पुत्र समदा (सड़क पर चारदीवारी कमरे विद्युत कनेक्शन)-सुबेदा (चारदीवारी कमेर)-आयमि पिता रहमान खान (चारदीवार कमरे विद्युत कनेक्शन)-प्रेमलता (चारदीवारी मकान विद्युत कनेक्शन)-सुशील (मकान का निर्माण)-अज्ञात (चारदीवारी बाड़ा)-आरिफ पिता हमीद (चार दीवारी तीन कमरे, किराएदार रहते हैं)-कूका पिता कम्मा (सड़क पर चारदीवारी दो कमरे)-सड़क के पास जम्फा पिता जफरा का (मकान विद्युत कनेक्शन)-सड़क पर बीरम की चारदीवारी (मकान, किराएदार )-पप्पू (चारदीवारी सड़क पर चद्दरों के सात मकान बने हैं किराएदार )-सड़क पर सिलावट पुत्र इब्राहिम (चारदीवारी कमरा,किराएदार )-हैदर (चारदीवारी कमरा)-पाल के पास अबजाय पिता समता (चारदीवारी व तीन कमरे)-अब्दुल रहमान (चारदीवार का निर्माण)-कादर (चारदीवार का निर्माण )-साबिया (चारदीवार मकान व विद्युत कनेक्शन )-शहनाज खातून (चारदीवार दो कमरे विद्युत कनेक्शन)-आमिद शेख (चारदीवारी मकान विद्युत कनेक्शन)-राधा (चारदीवार मकान)-शफीकुल्ला (चारदीवारी 6 कमरे)-सुगरी व कालू (चारदीवारी दो कमरे विद्युत कनेक्शन)-रेशमा (चारदीवारी मकान विद्युत कनेक्शन)- रजाक (चारदीवारी विद्युत कनेक्शन)-हमीर,आरिफ(चारदीवारी तीन कमरे विद्युत कनेक्शन)- शफीख खान (चारदीवारी मकान विद्युत कनेक्शन)-आयम पिता कम्मा खान (सड़क पर चार दुकानें व एक मकान)-जलदार (सड़क पर चार मकान किरादार)-दुर्बा (चारदीवारी तीन कमरे का मकान विद्युत कनेक्शन)-मोहम्मद मुनाफ (दो कमरे चारदीवारी विद्युत कनेक्शन)-शेख मनोहर खादिम (पूरा मकान बना हुआ है विद्युत कनेक्शन)-शकील (चारदीवारी मकान विद्युत कनेक्शन)-अर्पी पिता लियाकतअली (मकान विद्युत कनेक्शन)-अब्दुल सलाम (चारदीवारी मकान किराएदार विद्युत कनेक्शन)-सत्यनारायण अग्रवाल (चारदीवारी मकान किराएदार विद्युत कनेक्शन)-हनीफ (चारदीवारी मकान किराएदार विद्युत कनेक्शन)-मोहम्मद हुसैन खान (सड़क पर दुकान, कमरे विद्युत कनेक्शन)-जरीना (नाड़ी के पास दो मकान विद्युत कनेक्शन)-रसीदा (एक मकान मकान)-दाउदखान (मकान विद्युत कनेक्शन)-जड़ाव (चारदीवारी मकान)-रहमती (चारदीवारी मकान)-सना पत्नी अयाज (चारदीवारी मकान विद्युत कनेक्शन) (शेष अज्ञात)

कलक्टर ने अतिक्रमण हटाने के दिए निर्देश

जिला कलक्टर एंव अजमेर विकास प्राधिकरण के चेयरमैन प्रकाश राजपुरोहित ने एडीए सचिव किशोर कुमार तथा प्राधिकरण के उपायुक्त अशोक चौधरी को नाड़ी से अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए हैं। इस मामले में चौधरी का कहना है मामला जानकारी में आ गया है अतिक्रमण हटाए जाएंगे।

read more:

bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned