script7 students of Ajmer left Ukraine amid war | युद्ध के बीच अजमेर के 37 छात्रों ने छोड़ा युक्रेन | Patrika News

युद्ध के बीच अजमेर के 37 छात्रों ने छोड़ा युक्रेन

27 भारत आए, 24 राजस्थान पहुंचे

अजमेर

Updated: March 05, 2022 06:30:31 pm

अजमेर. रूस व युक्रेन के बीच चल रहे युद्ध के कारण युक्रेन में पढ़ रहे अजमेर जिले के 37 छात्र- छात्राओं ने युक्रेन छोड़ दिया है। गुरुवार को ब्यावर निवासी छात्र युक्रेन से अंतिम अजमेर निवासी छात्र के रूप में बाहर निकला। शुक्रवार तक 27 छात्र- छात्राएं विभिन्न स्रोतो के जरिए भारत पहुंचे। जबकि इनमें से 24 राजस्थान भी पहुंच चुके हैं। शेष 10 में से 5 ने युक्रेन के पड़ोसी देश हंगरी में शरण ले रखी है जबकि 3 स्लोवाकिया, 1 पोलैण्ड में,1 रोमानिया हैं। युक्रेन में अजमेर शहर के 28 जबकि ब्यावर से 5 तथा किशनगढ़़ से 4 छात्र- छात्राएं युक्रेन में अध्ययनरत थे। युक्रेन में अध्ययनरत अजमेर के 37 में 35 छात्राें विदेश मंत्रालय ने सीधे सम्पर्क किया जबकि 2 से अन्य स्रोतों के जरिए सम्पर्क साधा गया। युक्रेन में फंसे छात्रों को निकालने तथा उनके घर तक सुरक्षित पहुंचाने के लिए केन्द्र व राज्य सरकारें मिलकर काम कर रहीे हैं।
Ukraine War:  पुतिन की इन सात चालों में समझिए रूस—यूक्रेन युद्ध
हंगरी की राजधानी बुडापेस्ट यूक्रेन से बाहर निकालकर लाए गए छात्र प्रसन्न मुद्रा में
नियंत्रण कक्ष से रखी जा रही है नजर

युक्रेन संकट को लेकर जिलों में नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया गया है। विद्यार्थी एवं अभिभावक इसके दूरभाष नंबर 91 145 262 8932 पर सम्पर्क कर सकते हैं। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर 181 पर भी संपर्क किया जा सकता है। राजस्थान फाउंडेशन के दूरभाष नंबर 0141-2229091, 2229111 तथा मोबाइल नंबर 91-8306009838 पर भी संपर्क किया जा सकता है। राज्य सरकार द्वारा दिल्ली एवं मुंबई में भी अधिकारी इस उद्देश्य के लिए तैनात किए गए हैं। अजमेर में अतिरिक्त जिला कलेक्टर कैलाश चंद्र शर्मा को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। यूक्रेन से भारतीय छात्रों एवं उनके परिजनों से समन्वय एवं संवाद के लिए जिले के उपखंड अधिकारी, विकास अधिकारी एवं तहसीलदारो को निर्देशित किया गया है।
दूतावास के सम्पर्क में रहें

भारतीय स्टूडेंट्स एवं उनके अभिभावकों को सलाह दी गई हैं कि वे दूतावासों के अधिकारियो से निरन्तर सम्पर्क स्थापित करें ताकि उन्हें संबल मिल सके तथा दूतावासो की एडवायजरी की पालना करें।
वतन वापसी प्राथमिकता

राज्य सरकार विदेश मंत्रालय एवं भारतीय दूतावास के लगातार सम्पर्क में हैं तथा यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों एवं छात्र-छात्राओं की वहां से सुरक्षित एवं शीघ्र निकासी के लिये यूक्रेन, रूस, पोलैंड, बेलारूस और रोमानिया के जरिए प्रयास चल रहे हैं। दो दिन पूर्व भारतीय नागरिकों एवं छात्र-छात्राओं की स्वयं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से वीडियो कॉल के माध्यम से बात की तथा उनकी हौसला अफजाई करते हुए सकुशल वतन वापस में मदद का भरोसा दिलाया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद-श्रृंगार गौरी विवाद : वाराणसी कोर्ट की कार्रवाई पर सुप्रीम कोर्ट की रोक, शुक्रवार को होगी सुनवाईअमृतसर से ISI के दो जासूस गिरफ्तार, पाकिस्तान भेजते थे भारतीय सेना से जुड़ी खुफिया जानकारीहरियाणा के झज्जर में फुटपाथ पर सो रहे मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 3 की मौत 11 घायलभाजपा राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक : आज जयपुर आएंगे राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, एयरपोर्ट से कूकस तक 75 स्वागत द्वार तैयारBharatpur Road Accident: भीषण सड़क हादसे में 5 लोगों की मौत, मचा हाहाकारLPG Price Hike Today: घरेलू गैस की कीमत 3.50 रुपए बढ़े, कमर्शियल सिलेंडर पर 8 रुपए का इजाफाIPL के इतिहास में पहली बार होगा ऐसा, इन टीमों के बिना खेला जाएगा प्लेऑफपोर्नोग्राफी मामले में व्यवसायी राज कुंद्रा के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का भी मामला दर्ज
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.