यूं दिखेगी इस खूबसूरत रोड की असलियत, इसके सामने लाखों रुपए हैं धूल

यह सड़क फिर उखड़ेगी। ऐसे में 75 लाख का उपयोग महज दो साल ही हो सकेगा।

By: raktim tiwari

Published: 10 Nov 2017, 10:47 AM IST

ब्यावर।

देलवाड़ा रोड पर बन रही सड़क दो साल में एक बार फिर उखड़ेगी। ऐसे में 75 लाख की लागत से बन रही सड़क का उपयोग करीब डेढ़ साल तक ही हो सकेगा। इसके बाद सीवरेज की लाइन डाले जाने के चलते यह सड़क फिर उखड़ेगी। ऐसे में 75 लाख का उपयोग महज दो साल ही हो सकेगा।

महज दो साल में एक ही सड़क पर दो बार लाखों रुपए खर्च होगा। देलवाड़ा रोड वार्ड संख्या 44 का अधिकांश क्षेत्र सीवरेज लाइन की जद में आ रहा है। इस मार्ग पर करीब चार एमएलडी क्षमता की सीवरेज लाइन डाली जानी है।

शहर के देलवाड़ा रोड पर लम्बे समय से सड़क के विस्तारीकरण की मांग की जा रही थी। इस सड़क के विस्तारीकरण के लिए 75 लाख रुपए स्वीकृत हुए। अब यह काम शुरू हुआ तो इस मार्ग पर ही सीवरेज का काम भी होना है। ऐसे में यहां पर 75 लाख की लागत से सड़क का निर्माण अंतिम चरण में है।

लाखों रुपए खर्च होने के बावजूद इस सड़क का उपयोग महज डेढ़ साल तक ही हो पाएगा। इसके बाद सीवरेज की लाइन डाले जाने से एक बार फिर उखड़ जाएगी। हालांकि इस सड़क का वापस निर्माण का काम सीवरेज के बजट के तहत ही होना है।
यह निकाला समाधान

देलवाड़ा रोड पर चार एमएलडी क्षमता की सीवरेज लाइन का काम होगा। अब तक इसकी डिजाइन स्वीकृत नहीं हुई है। सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से देलवाड़ा रोड पर सड़क का निर्माण करवा देने से इस ओर का सीवरेज का कार्य अंतिम चरण में लिया जाएगा, ताकि एक-डेढ़ साल तक लोग इस सड़क का उपयोग कर सके।

फुटपाथ का काम होना है शुरू, नहीं हटा अतिक्रमण

देलवाड़ा रोड पर अतिक्रमण हटाने को लेकर पिछले एक साल से प्रयास किए जा रहे हैं। अब तक पूरी तरह से अतिक्रमण नहीं हट सका है। पेवरीकरण का काम अंतिम चरण में है। कुछ ही दिनों में फुटपाथ का काम शुरू होगा।

देलवाड़ा रोड पर सड़क पर डामरीकरण का काम चल रहा है। सड़क पर फुटपाथ का काम अब शुरू होगा। सीवरेज योजना का काम दो साल है। ऐसे में दो साल तक काम को रोका नहीं जा सकता। कम से कम दो साल तक तो लोग परेशान नहीं हो।

ओ.पी.चौहान, अधिशासी अभियंता, सार्वजनिक निर्माण विभाग
सीवरेज का नक्शा व अन्य जानकारी सार्वजनिक निर्माण विभाग को पूर्व में दे दी थी। इस मार्ग पर चार एमएलडी क्षमता का काम होना है। काम को पूरा करने का दो साल की समयावधि है।

ओमप्रकाश चौधरी, सहायक अभियंता, नगर परिषद

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned