विवाह समारोह पर संकट! प्रशासन ने ऐनवक्त पर कई भवन किए अधिग्रहित, उल्लंघन पर चेतावनी

जिला परिषद व पंचायत समिति चुनाव की तैयारी,पुलिस व मतदान दलों के ठहरने के लिए स्थान आरक्षित,राजकीय कार्य के चलते कोई नहीं कर पा रहा विरोध

By: suresh bharti

Published: 21 Nov 2020, 12:37 AM IST

अजमेर/झुंझुनूं. पंचायतीराज चुनावों के मददेनजर झुंझुनूं जिला प्रशासन ने कई भवन अधिग्रहित किए हैं। इनमें होटल, धर्मंशाला व विवाह समारोह स्थल शामिल है। इसके चलते विवाह समारोह आयोजन को लेकर दिक् कतें हो गई है। कई परिवारों ने तो जो भवन व स्थल बुक कर दिए थे। वह भी प्रशासन ने कब्जे में ले लिए हैं।
देवउठनी सहित कई सावों पर शादियों के लिए बुक कराए भवनों को प्रशासन ने अचानक अधिग्रहित किए हैं। ऐसे में सैकड़ों परिवारों को विवाह समारोह आयोजित करने में परेशानी आ रही है। प्रशासन ने भवनों का अधिग्रहण 20 नवम्बर से 10 दिसम्बर तक किया है, जबकि शादियों के मुहूर्त भी इसी समय हैं। शादियां 25 नवम्बर से शुरू होंगी। इसके लिए लोगों ने 20 तारीख से ही भवनों को बुक करवा रखा था। कई जगह तो मेहमान आने की तैयारी थी। उनके रुकने की व्यवस्था भी कर ली गई थी। प्रशासन के आदेशानुसार भवनों का अधिग्रहण पंचायत राज चुनाव के संबंध में पुलिस बल/ आरएसी को ठहराने के लिए किया गया है।

17 दिन में 8 विवाह लग्न मुहूर्त

लंबे समय से शादियां बंद थी। पहले लोकडाउन था फिर देव सो गए। उसके बाद अधिक मास आ गया। अब देवउठनी ग्यारस से शादियों का सीजन आएगा। 25 नवंबर से 11 दिसंबर के बीच आठ विवाह लग्न मुहूर्त हैं। यह बहुत अच्छे हैं शादियां कम हैं, लेकिन लोग ज्यादा शादियां अपने बच्चों की इसी समय में कर रहे हैं। इसका कारण यह है कि आगे 5 माह तक सावे भी नहीं है। शादी कर रहे एक परिवार के सदस्यों ने बताया कि उन्होंने शहर में एक भवन को बुक किया था। मेहमान आने वाले थे, लेकिन एनवक्त पर प्रशासन ने अधिग्रहण कर लिया, इससे संकट खड़ा हो गया है।

कार्ड में लिखवाया था विवाह स्थल का पता

शादी करने वाले एक अन्य परिवार ने बताया कि कार्ड पर विवाह स्थल का नाम लिखवाया था। मेहमान उसी स्थान पर आएंगे। एनवक्त पर अधिग्रहण करने से मेहमानों को परेशानी होगी। वहीं एक अन्य जगह शादी करने वाले परिवार ने बताया कि अब कोई दूसरी जगह शादी के लिए नहीं मिल रही है। जो मिल रही है वे चार गुणा ज्यादा किराया मांग रहे हैं।

यह भवन किए अधिग्रहित

राणी सती मंदिर चौक 9,12, खेमी सती मंदिर, मोतीलाल बीएड कॉलेज भवन, मोतीलाल ला कॉलेज भवन, चावो सती दादी मंदिर ट्रस्ट, केशव विद्या मंदिर,गाडिया भवन, बंधे का बालाजी भवन, मुकुंद सेवा सदन, गाडिया टाउन हॉल, सामुदायिक विकास भवन इंदिरा नगर, दिल्ली वालों की धर्मशाला, मोरवाला गेस्ट हाउस, नर्सिंग कॉलेज भूरासर, जांगिड़ मंगल भवन, महाजन गेस्ट हाउस मलसीसर, खेतान गेस्ट हाउस अलसीसर, सती गेस्ट हाउस मलसीसर केडिया गेस्ट हाउस, बाबा नृसिंगदास धर्मशाला उदामांडी, शर्मा लॉज चिड़ावा सहित जिले के 25 से अधिक भवनों को अधिग्रहित कर लिया गया है।

आदेश के उल्लंघन पर एक साल की सजा

जिला कलक्टर उमरदीन खान की ओर से जारी आदेश के अनुसार कोई भी व्यक्ति अधिग्रहण के इस आदेश का उल्लंघन करेगा, वह लोक प्रतिनिधित्वि अधिनियम 1951 की धारा 167 के अधीन एक वर्ष तक की अवधि के कारावास या जुर्माना से अथवा दोनों से दंडनीय होगा।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned