ACTION: कोचिंग इंस्टीट्यूट पर जुर्माना, स्कूल को लगाई फटकार

सूचना मिलते ही जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने शिक्षा विभाग को सूचित कर स्कूल को पाबंद करने के निर्देश दिए।

By: raktim tiwari

Published: 17 Apr 2021, 08:49 AM IST

अजमेर.

कोरोना गाइडलाइन के बीच सीबीएसई की प्रायोगिक परीक्षाएं कराने पर जिला प्रशासन ने स्कूल को फटकार लगाई। इसके अलावा प्रशासन ने एक निजी कोचिंग संस्थान पर 5 हजार रुपए का जुर्माना लगाया।

अलवर गेट स्थित सेंट पॉल्स स्कूल सीबीएसई से सम्बद्ध है। यहां बारहवीं कक्षा की प्रायोगिक परीक्षाएं जारी थी। कक्षाओं में विद्यार्थी बैठे हुए थे। जबकि कोरोना संक्रमण के बीच सरकार ने सभी स्कूल को बंद करने के आदेश दिए हैं। इसकी सूचना मिलते ही जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने शिक्षा विभाग को सूचित कर स्कूल को पाबंद करने के निर्देश दिए।

निजी कोचिंग संस्थान पर जुर्माना
पाबंदी के बावजूद श्रीनगर रोड पर निजी कोचिंग सेल्सियस संस्थान संचालित मिला। यहां विद्यार्थियों को कक्षाओं में पढ़ाया जा रहा था। डीएसओ अंकित पचार के साथ टीम मौके पर पहुंची। पचार ने सरकार के निर्देश और प्रोटोकॉल के उल्लंघन पर संस्थान पर पांच हजार का जुर्माना किया। साथ ही संस्थान पर ताला लगाकर सीज कर दिया।

लॉकर चार साल से बंद, खातों में मिले 16.95 लाख

अजमेर. जमीन संबंधित विवादों में फैसले के बदले घूस लेने वाले राजस्व मंडल के दो सदस्यों सहित दलाल शशिकांत जोशी के खिलाफ एसीबी जांच जारी है। एसीबी ने दलाल (वकील) के चार बैंक खातों और लॉकर को खुलवाया। दलाल और उसके परिजनों के खातों में 16 लाख 95 हजार रुपए मिले। दलाल के अलग-अलग बैंक में पांच खाते और मिले हैं। इन्हें भी एसीबी ने फ्रीज करा दिया है।

राजस्व मंडल के निलंबित सदस्य सुनील शर्मा और बी.एल.मेहरडा सहित दलाल शशिकांत जोशी के खिलाफ राजस्व मामलों से जुड़े फैसलों और राजस्व बैंच बनाने को लेकर फिक्सिंग की शिकायत मिली थी। तीनों को अदालत ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned