ADMISSION: नजरें कॉलेज एडमिशन पॉलिसी पर, कोरोना बढ़ाएगा दिक्कतें

इसके लिए कॉलेज प्राचार्यों-शिक्षकों से सुझाव लिए गए हैं। कोरोना से संक्रमण पिछले साल की तरह दाखिलों में विलंब होगा।

By: raktim tiwari

Updated: 06 May 2021, 08:36 AM IST

अजमेर.

कॉलेज शिक्षा निदेशालय स्नातक और स्नातकोत्तर कॉलेज में सत्र 2021-22 की प्रवेश नीति बनाने में जुट गया है। इसके लिए कॉलेज प्राचार्यों-शिक्षकों से सुझाव लिए गए हैं। कोरोना से संक्रमण पिछले साल की तरह दाखिलों में विलंब होगा।

कॉलेज शिक्षा निदेशालय प्रतिवर्ष सरकारी और निजी कॉलेज के लिए प्रवेश नीति बनाता है। उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी और कॉलेज शिक्षा निदेशालय के अधिकारी इस पर प्राचार्यों, शिक्षाविदें से चर्चा करेंगे। संयुक्त निदेशक डॉ. सौमित्रनाथ झा ने विभिन्न कॉलेज प्राचार्यों से सुझाव मांगे थे। प्रवेश नीति में खास बिन्दुओं और नवाचार पर चर्चा होगी। इसके बाद कार्यक्रम और नियम तैयार होंगे।

मौजूदा समय बीए-बीकॉम प्रथम वर्ष कला अैार वाणिज्य संकाय में प्रवेश के लिए 48 प्रतिशत और बीएससी प्रथम वर्ष विज्ञान संकाय में प्रवेश के लिए 50 प्रतिशत अंक आवश्यक है। इसी तरह स्नातकोत्तर स्तर पर एमए/एमकॉम पूर्वार्² में दाखिले के लिए 48 और एमएससी पूर्वार्² के लिए 55 प्रतिशत प्राप्तांक आवश्यक हैं। ऑनलाइन होंगे प्रवेश सत्र 2021-22 में ऑनलाइन प्रवेश होंगे।

निदेशालय केंद्र सरकार की कैशलेस योजना को देखते हुए विद्यार्थियों को एटीएम/डेबिट/क्रेडिट कार्ड से फीस जमा कराने का सुविधा भी मुहैया करा सकता है। मालूम हो कि मौजूदा वक्त कॉलेज और विश्वविद्यालयों में बैंकर्स चेक, ड्राफ्ट अथवा ई-चालान से नकद फीस जमा होती है।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned