बोले नसीराबाद के वोटर्स-पीएम मोदी तो हैं ठीक, राजस्थान सरकार ने नहीं किया खास काम

बोले नसीराबाद के वोटर्स-पीएम मोदी तो हैं ठीक, राजस्थान सरकार ने नहीं किया खास काम

Yuglesh kumar Sharma | Publish: Jan, 14 2018 07:43:33 AM (IST) Ajmer, Rajasthan, India

नसीराबाद वाले तोले-माशे का भी ध्यान रख कर तोलते हैं। मतदाता राजनीतिक रूप से बहुत बुद्धिमान माने जाते हैं।

युगलेश शर्मा/नसीराबाद।

राज्य के ठीक मध्य में स्थित इस सीट का मिजाज शुरू से ही हर चुनाव में ऐसा रहता है कि यहां हार-जीत का अंतर बेहद मामूली रहता आया है। इसलिए राजनीतिक हलकों में कहा जाता है कि नसीराबाद वाले तोले-माशे का भी ध्यान रख कर तोलते हैं। यहां के मतदाता राजनीतिक रूप से बहुत बुद्धिमान माने जाते हैं। दो बड़ी जातियों जाट और गुर्जर के बीच यहां कांटे की टक्कर रहती है। हालांकि सीट पर ज्यादातर कब्जा कांग्रेस का ही रहा है। पिछले 14 विधानसभा चुनावों में 11 बार कांग्रेस जीती है।

लोकसभा उपचुनाव में इस सीट पर जातिगत समीकरण बैठाना इस बार भाजपा-कांग्रेस दोनों के लिए चुनौतीपूर्ण है। इसलिए दोनों दलों की यहां खास नजर है। मतदाताओं का रुख किस तरफ रहेगा ये तो अभी स्पष्ट नहीं है लेकिन पत्रिका ने जब इस विधानसभा क्षेत्र का दौरा कर जमीनी हकीकत जानना चाहा तो यहां के मतदाताओं ने एक बात तो साफ कर दी कि मौजूदा राज्य सरकार के काम-काज से लोग खुश नहीं है।

हालांकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के काम लोगों ने सराहा है। दूसरी तरफ वर्तमान विधायक रामनारायण गुर्जर के विकास कार्यों को देखकर उनके दिमाग में यह भी बैठी हुई है कि जिसकी सरकार होती है, उसी के काम होते हैं। ऐसे में मतदाताओं ने लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव की अलग-अलग राय अभी से बना रखी है।

मतदाता कहिन
सदर बाजार में एक मूंगफली के ठेले के पास बैठे आस-पास के गांवों से आए ग्रामीणों से पूछा गया तो मिलाजुला जवाब मिला। बेवंजा पंचायत के ढालका निवासी नारायण ने कहा कि काम कुछ नहीं हो रहे। पानी हौद का ही पीना पड़ रहा है। 200 से 350 रुपए तक देकर टैंकर मंगवाना पड़ता है। अजब का बाडिय़ा निवासी नौरत का कहना था कि विधायक काम तो करवाना चाहते हैं लेकिन उनकी सरकार ही नहीं है।

वहीं नसीराबाद निवासी रामस्वरूप ने कहा कि सांवरलाल जाट ने क्षेत्र में काम करवाए हैं। उनके प्रति हमारी सहानुभूति है। नसीराबाद के बीड़ी व्यवसायी गोविंदराम का मानना है कि भले ही जीएसटी का असर है लेकिन इस बार दोनों पार्टियों के प्रत्याशियों को देखकर लग रहा है कि दोनों में बराबर की टक्कर होगी। लोग व्यक्ति को देखकर ही वोट देंगे।

नसीराबाद के ही सेवानिवृत्त कर्मचारी बेनाराम का मानना है कि यहां जातिवाद हावी रहा है। यह क्षेत्र हमेशा कांग्रेस का गढ़ रहा है। विधायक का व्यवहार भी ठीक है, काम के लिए किसी को मना नहीं करते। बाकी अपना-अपना भाग्य है। क्योंकि लोग आदमी को देखकर वोट देंगे।

श्रीनगर में एक दुकान पर चुनावों की चर्चा में मशगूल बंशीलाल यादव भाजपा कार्यकर्ता है लेकिन उनका भी कहना था कि राज्य सरकार ने कुछ काम नहीं करवाया। यादव का कहना था कि अभी तो लोग मोदी की तरफ देखकर वोट दे देंगे लेकिन विधानसभा चुनाव में असर पड़ेगा।
श्रीनगर के ही सत्यनारायण तिवारी, जगदीश यादव, बाबूसिंह आदि ने भी चुनाव की बात करते ही समस्याएं गिनानी शुरू कर दी। उनका कहना था कि पंचायत समिति होने के कारण यहां विधायक रामनारायण गुर्जर भी आते हैं तो पुष्कर विधायक सुरेश सिंह रावत का भी आना-जाना रहता है। मुख्य समस्या यहां सड़क की है। बरसात में पानी भरने के कारण कोई पैदल नहीं चल पाता। बैंक की मात्र एक ही शाखा है। बिजली विभाग का एईएन ऑफिस नहीं होने के कारण नसीराबाद जाना पड़ता है। उनका कहना था कि जो काम करवाएगा, उसे ही वोट देंगे।

फ्लैश बैक

गुर्जर, जाट और रावत मतदाताओं की बहुलता वाले इस विधानसभा क्षेत्र में बाबा के नाम से विख्यात पुड्डूचेरी के पूर्व उपराज्यपाल गोविंदसिंह गुर्जर 1980 से 2008 तक छह बार विधायक रहे। इसके बाद उनके ममेरे भाई महेन्द्रसिंह गुर्जर को विधायक बनाया गया। वर्तमान विधायक रामनारायण गुर्जर भी बाबा के ममेरे भाई हैं। खास बात यह है कि गुर्जर बाहुल्य के बावजूद यहां जीत-हार का अंतर हर बार बहुत कम रहा है।

बाबा भी यहां बहुत कम अंतर से ही जीते थे। लेकिन कांग्रेस के नसीब में ज्यादा रहने वाली इस सीट को लेकर भाजपा में कहीं न कहीं खौफ जरूर है। वैसे वर्ष 2013 में यहां के मतदाताओं ने दिवंगत सांवरलाल जाट को मौका दिया था। लेकिन उनके लोकसभा में चले जाने के कारण यहां उपचुनाव हुए और फिर से कांग्रेस जीत गई। हालांकि वर्ष-2014 में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा को यहां बढ़त मिली है। इसलिए भाजपा जहां उस बढ़त को बरकरार रखने तो कांग्रेस उसे रोकने की जुगत में लगी है।
मतदान पर एक नजर

कुल मतदाता- 2 लाख 15 हजार 19

लोकसभा चुनाव 2014- भाजपा को 72482 और कांग्रेस को 61490 वोट मिले

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned