Be Aware: 2020 में संभल जाएं आप, वरना होगा ये नुकसान...

बेतहाशा बढ़ते वाहनों की तुलना में मल्टीस्टोरी पार्र्किंग सुविधा विकसित नहीं हो पाई है।

By: raktim tiwari

Published: 06 Jan 2020, 08:01 PM IST

रक्तिम तिवारी/अजमेर.

बेतरतीब पार्र्किंग से जूझते शहर को लेकर यातायात पुलिस (traffic police) जल्द अभियान शुरू करेगी। पुलिस शहर के होटल-दुकान संचालकों-व्यवसाइयों (business house) से बातचीत करेगी। वाहनों की व्यवस्थित पार्र्किंग के लिए समझाइश की जाएगी। कोई समाधान नहीं होने पर पुलिस नियमानुसार कार्रवाई प्रारंभ करेगी।

Read More: Proposal: कलक्ट्रेट में पुलिस को करेगी ये काम, जानें आखिर क्या है वजह...

शहर इंडिया मोटर चौराहा, हाथीभाटा जयपुर रोड, मदार गेट-स्टेशन रोड, आनासागर लिंक रोड, आगरा गेट, कचहरी रोड, नसीराबाद रोड-ब्यावर रोड, श्रीनगर रोड सहित अन्य स्थानों पर मॉल (mall), होटल, (hotel), दुकान (shops) और कोचिंग संस्थान (coaching) संचालित हैं। कई होटल और व्यावसायिक भवनों में अंडर ग्राउन्ड पार्र्किंग की व्यवस्था है, लेकिन वाहनों का जमावड़ा मुख्य रोड पर रहता है। कई भवनों के अंडर ग्राउन्ड में पार्र्किंग के बजाय व्यावसायिक गतिविधियां संचालित हैं।

Read More: पुष्कर के इस मंदिर में साल में सिर्फ एक बार पौष एकादशी को खुलता है यह वैकुंठ द्वार

नहीं है बड़ी पार्र्किंग सुविधा
शहर में खाईलैंड में चौपहिया वाहन पार्र्किंग सुविधा है। इसके अलावा रेलवे स्टेशन, कचहरी रोड, सुभाष उद्यान के सामने, आजाद पार्क और अन्य स्थानों पर सडक़ (road side) के किनारे पार्र्किंग है। शहर में बेतहाशा बढ़ते वाहनों की तुलना में मल्टीस्टोरी पार्र्किंग सुविधा (parking facility) विकसित नहीं हो पाई है। तोपदड़ा- रेलवे फाटक के निकट पार्र्किंग निर्माणाधीन है। नया बाजार स्थित पशु चिकित्सालय में पार्र्किंग स्थल का प्रस्ताव मूर्त रूप नहीं ले पाया है।

Read More:Fraud: दरगाह की इस कमेटी में हुआ गबन, हड़प लिए लाखों रुपए

सडक़ों पर बढ़ रहा दबाव
होटल-दुकान, कोचिंग संस्थान-व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के बाहर वाहनों के जमावड़े सडक़ों पर दबाव (pressure on roads) बढ़ रहा है। लोगों के कहीं भी चौपहिया, दोपहिया, तिपहिया वाहन खड़े करने से समस्याएं बढ़ रही हैं। ट्रेफिक पुलिस (traffic police) के वाहनों के जब्त करने की कार्रवाई के बावजूद संचालक और लोग बैखौफ हैं।

Read More: Police cops: ये टीम रखेगी अजमेर पर नजर, स्पेशल है इनकी working स्टाइल

पुलिस करेगी समझाइश
यातायात पुलिस उप अधीक्षक विजय सांखला ने बताया कि शहर में व्यवस्थित वाहन पार्र्किंग (vehicle parking) को लेकर होटल-दुकानदारों, व्यावसायिक प्रतिष्ठान संचालकों से बातचीत की जाएगी। इन्हें व्यवस्थित पार्र्किंग में सहयोग के लिए समझाया जाएगा। लोगों से भी आग्रह किया जाएगा। पार्र्किंग व्यवस्था में अपेक्षित सुधार नहीं होने पर नियमानुसार पुलिस कार्रवाई (police action) करेगी।

Read More: Reality check-अजमेर सेन्ट्रल जेल की सुरक्षा में सेंध

बढ़ रही वाहनों की संख्या
शहर में वाहनों की संख्या साल दर साल बढ़ती जा रही है। वर्ष 2000-01 में अजमेर में परिवहन से पंजीकृत वाहनों (vehicles) की संख्या 2 लाख के आसपास थी। बीते 19 साल में यह तादाद बढकऱ 10 लाख तक पहुंच गई है। इनमें चौपहिया (four wheeler), दोपहिया (two wheeler), तिपहिया (three wheeler) वाहन शामिल हैं।

Show More
raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned