Big issue: कोरोना संक्रमण बढ़ाएगा 2021 के एग्जाम का टेंशन

कक्षाओं में जितनी देरी होगी उतना ही अगले वर्ष होने वाली परीक्षाओं के आयोजन में परेशानी बढ़ेगी।

By: raktim tiwari

Updated: 11 Jul 2020, 07:08 AM IST

रक्तिम तिवारी/अजमेर.

कोरोना वायरस संक्रमण से 2021 की सीबीएसई की दसवीं-बारहवीं सहित राष्ट्रीय स्तरीय प्रवेश परीक्षाओं पर भी असर पड़ सकता है। मौजूदा सत्र में पढ़ाई, कक्षाओं में जितनी देरी होगी उतना ही अगले वर्ष होने वाली परीक्षाओं के आयोजन में परेशानी बढ़ेगी।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी जेईई, नीट, नेट-जेआरएफ, सीएसआईआर-नेट परीक्षा का आयोजन करता है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों में प्रवेश के लिए जेईई एडवांस परीक्षा आईआईटी और देश की नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी क्लैट परीक्षा कराती है। कोरोना का आंकड़ा 7 लाख पारमहाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु, हरियाणा, राजस्थान, असम सहित कई राज्यों में कोरोना संक्रमित केस बढ़ रहे हैं। देश में 7 लाख लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं।

सीबीएसई की दसवीं-बारहवीं परीक्षाएं स्थगित हो चुकी हैं। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने जेईई मेन, नीट को सितंबर में कराने का फैसला किया है। केंद्रीय और राज्य स्तरीय विश्वविद्यालयों की तृतीय वर्ष परीक्षाएं भी सितंबर में प्रस्तावित हैं। साल 2020 के अंत तक हालात सामान्य होने मुश्किल दिख रहे हैें।

यह परेशानी आएंगी 2021 में.....
-शैक्षिक संस्थानों दाखिलों और पढ़ाई की शुरुआत में देरी
-जून/जुलाई से अक्टूबर-नवंबर तक चल सकती है दस्तावेजों की जांच
-विभिन्न सेमेस्टर में पढ़ रहे विद्यार्थियों की परीक्षा
-परिणाम में देरी-जेईई मेन की जनवरी 2021 की परीक्षा पर असर
-मई/जून में नीट, सीमैट, क्लैट, जेईई एडवांस परीक्षा पर असर
-पढ़ाई में विलंब से सीबीएसई की दसवीं-बारहवीं की परीक्षाएं कराने में दिक्कतें


जेईई मेन, जेईई एडवांस और अन्य प्रवेश परीक्षाओं में देरी से साल 2021 पर भी असर पड़ता दिख रहा है। नियमित पढ़ाई से लेकर सेमेस्टर परीक्षा में देरी संभव है। संस्थाओं को धीरे-धीरे ही अगले सत्र को पटरी पर लाना पड़ेगा।
डॉ. यू.एस.मोदानी, प्राचार्य इंजीनियरिंग कॉलेज अजमेर

READ MORE: राजस्थान व हरियाणा के अपराधियों की अब खैर नहीं, घुसने व छिपने कर कसेगा शिकंजा

आरएएस 2018: आवेदन से परिणाम तक लगे सवा दो साल

रक्तिम तिवारी/अजमेर. आरएएस एवं अधीनस्थ सेवा भर्ती-2018 भर्ती ने आवेदन से मुख्य परीक्षा परिणाम तक सवा दो साल का सफर पूरा कर लिया। साल 2016 की भर्ती की तरह अभ्यर्थियों के साक्षात्कार और पदस्थापन देरी से होंगे। हालांकि आयोग के कई तकनीकी अड़चनें सुलझाने से आरएएएस की आगामी भर्तियों में दिक्कतें कम होंगी।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned