Big Issue: जबरदस्त टैंशन में राजस्थान का सबसे पुराना कॉलेज

मामला पेचीदा बना हुआ है। बीते दस दिन से सरकार और निदेशालय ने कोई फैसला नहीं लिया है।

By: raktim tiwari

Published: 03 Apr 2021, 08:45 AM IST

अजमेर. सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय में प्राचार्य पद पर विवाद कायम है। सरकार और कॉलेज शिक्षा निदेशालय कोई फैसला नहीं ले पाए हैं।

कॉलेज में मौजूदा वक्त डॉ. प्रतिभा यादव प्राचार्य हैं। डॉ. दीपक मेहरा ने हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी जिस पर हाईकोर्ट ने ट्रिब्यूनल के आदेश को खारिज कर प्रार्थी को जीसीए में पदभार संभालने के आदेश दिए। लेकिन मामला पेचीदा बना हुआ है। बीते दस दिन से सरकार और निदेशालय ने कोई फैसला नहीं लिया है।

हाईकोर्ट में लगाई है याचिका
अधिकृत सूत्रों के मुताबिक सरकार ने सिंगल बेंच के फैसले के विरुद्ध हाईकोर्ट खंडपीठ में याचिका लगाई है। खंडपीठ के फैसले के अनुसार ही सरकार और निदेशालय को निर्णय लेंगे। राज्य का सबसे प्रमुख कॉलेज से होने से सबकी निगाहें मामले पर टिकी हैं।

किसे हटाएं, किसे बिठाएं....?
नियमानुसार डॉ. प्रतिभा यादव और डॉ. दीपक मेहरा डीपीसी में पदोन्नत हुए हैं। डॉ. यादव को रिक्त पद पर जीसीए में प्राचार्य लगाया गया है। जबकि डॉ. मेहरा को संयुक्त निदेशक पद पर जयपुर लगाया गया था। लेकिन उन्होंने इसे जीसीए से हटाया जाना मानते हुए पहले ट्रिब्यूनल और उसके बाद हाईकोर्ट में चुनौती दी। निदेशालय की उलझनें बढ़ी हुई हैं।

पवित्र शनिवार पर होगी प्रेयर, करेंगे यीशू को याद


अजमेर. गुड फ्राइडे के बाद मसीह धर्मालंबी पवित्र शनिवार मना रहे हैं। शाम को विभिन्न चर्च में प्रार्थना होगी। इसके बाद रविवार को ईस्टर मनाया जाएगा।

सेंट एन्सलम्स स्कूल स्थित इमेक्यूलेट कंसेप्शनल कथीड्रल में क्रूस यात्रा निकाली गई। प्रभु के पहाड़ी पर उपदेश देने, सैनिकों द्वारा प्रभु यीशू को बांधने, सूली पर चढ़ाने का वृतांत सुनाया गया। यह सुनकर कई मसीह धर्मावलंबियों की आंखें छलछला उठीं। महिलाओं, पुरुषों, बच्चों और युवाओं ने पवित्र क्रूस के आगे सिर झुकाकर परमात्मा यीशू को याद दिया। बिशप पायस थॉमस डिसूजा, फादर कॉसमॉस शेखावत सहित विभिन्न चर्च के पुरोहित, नन और मसीह धर्मावलंबी मौजूद रहे।
इसी तरह विभिन्न प्रोटेस्टेंट चर्च में भी प्रार्थना हुई। प्रभु यीशू के बलिदान पर मसीह धर्मावलंबियों ने उपवास रखा। धर्म गुरुओं ने स्टेशन ऑफ द क्रॉस और सात वाणियों के उपदेश दिए। यीशू को प्राण दंड की आज्ञा, माता मरियम से मुलाकात, वेरोनिका द्वारा यीशू का चेहरा पौंछने, यीशू का दूसरी बार गिरने और अन्य वृतांत सुनकर लोग गमजदा हो गए।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned