मौत बनकर आई बजरी से भरी ट्रॉली और प्रौढ़ को कुचल गई, गुस्साए ग्रामीणों ने शव को सडक़ पर रख किया प्रदर्शन

अजमेर-कोटा राजमार्ग पर प्रदर्शन, सडक़ के दोनों ओर वाहनों की लगी कतारें, पांच घंटे कर सडक़ जाम में फंसे रहे छोटे-बड़े वाहन,पुलिस व प्रशासन की समझाइश पर राजी हुए ग्रामीण

By: suresh bharti

Published: 06 Mar 2021, 01:10 AM IST

अजमेर/सावर. मौत पता नहीं किस रूप में आ जाए। कुछ नहीं कहा जा सकता। अजमेर जिले के ग्राम नापाखेड़ा एवं घटियाली के बीच शुक्रवार सुबह एक प्रौढ़ बाइक पर जा रहा था। इस दौरान अवैध बजरी भरकर तेज गति से जा रही ट्रैक्टर-ट्रॉली ने बाइक के टक्कर मार दी। इससे प्रौढ़ उछलकर ट्रैक्टर के पहियों के नीचे कुचल गया। हादसे में मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

आक्रोशित ग्रामीणों ने नापाखेड़ा के पास अजमेर-कोटा हाइवे पर शव,पत्थर व अन्य अवरोधक डालकर सडक़ मार्ग रोक दिया। इसके चलते तीन किमी तक अजमेर से कोटा तथा कोटा से अजमेर जाने वाले वाहन पांच घंटे तक जाम में फंसे रहे। बाद में समझाइश पर ग्रामीणों ने सडक़ मार्ग खोल दिया।

ट्रैक्टर ने बाइक के मारी टक्कर

शुक्रवार सुबह घटियाली निवासी मेवाराम (55) पुत्र माधू मीणा सब्जी बेचकर देवली से बाइक पर गांव लौट रहा था। नापाखेड़ा एवं घटियाली के बीच सामने से अवैध बजरी भरकर आ रही ट्रैक्टर-ट्रॉली ने बाइक के टक्कर मार दी। इससे मेवाराम ने मौके पर दी दम तोड़ दिया। दुर्घटना के बाद चालक ट्रैक्टर भगाकर ले गया। सूचना पर घटियाली व नापाखेड़ा के ग्रामीण मौके पर पहुंचे। उन्होंने कुछ पुलिसकर्मियों पर बजरी माफिया से साठ-गांठ करने का आरोप लगाकर शव के साथ नापाखेड़ा के पास अजमेर-कोटा हाइवे पर जाम लगा दिया।

20 लाख का मांगा मुआवजा

ग्रामीणों ने पीडि़त परिवार को 20 लाख का मुआवजा, अवैध बजरी का परिवहन पूरी तरह बंद करने तथा आरोपी पुलिसकर्मियों को सावर थाने से हटाने आदि की मांग की। मुआवजा राशि पर बात नहीं बनी। अपराह्न करीब 3 बजे ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष शैलेन्द्रसिंह शक्तावत मौके पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों से समझाइश की।

चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा की ओर से 5 लाख की सहायता राशि देने व दोषी पुलिसकर्मियों को सावर थाने से हटाने के साथ अवैध बजरी के ट्रैक्टर नहीं चलने के आश् वासन के बाद ग्रामीण राजी हुए। बाद में अपराह्न 3 बजकर 10 मिनट पर जाम खोल दिया।

दो पुलिसकर्मियों को भेजा लाइन

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक केकड़ी घनश्याम शर्मा ने बताया कि ग्रामीणों की शिकायत पर सावर थाने में तैनात सिपाही नरेन्द्र कुमार व नीरज कुमार को यहां से हटाकर पुलिस लाइन, अजमेर भेजने के आदेश दिए गए हैं। शेष अन्य पुलिसकर्मियों की जांच की जा रही है।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned