दो पक्षों में खूनी संघर्ष : सात मोटरसाइकिलें जलाई, दुकानों व मकान में तोडफ़ोड़,लाठी-चाकू से हमला

अजमेर जिला मुख्यालय से सटे ग्राम बीर में दो पक्षों के बीच खूनी संघर्ष, पंचायतीराज चुनाव की रंजिश, कई दुपहिया वाहनों में लगाई आग.दुकान व घरों में तोडफ़ोड़

By: suresh bharti

Published: 30 Nov 2020, 01:15 AM IST

अजमेर. जिला मुख्यालय से सटे ग्राम बीर में दो पक्षों में कहासुनी के बाद मामला खूनी संघर्ष में तब्दील हो गया। इस दौरान सात मोटरसाइकिलों समेत दुकानें आग के हवाले कर दी। पुलिस के अनुसार बीर ग्राम निवासी रामलाल गुर्जर ग्राम पंचायत के सामने अपनी डेयरी पर बैठा था।

इस दौरान बीर निवासी अविनाश गुर्जर ने किसी बात को लेकर रामलाल व उसके भाई शैतान के साथ गाली-गलौच शुरू कर दी। रामलाल ने विरोध करते हुए अविनाश के परिजन को इसकी शिकायत कर दी। आरोप है कि अविनाश बीर के पूर्व सरपंच पुत्र जगदीश और समर्थकों के साथ हथियारों से लैस होकर डेयरी पर पहुंचा। इसके बाद लोहे के सरियों व लाठियों से हमला कर दिया। इससे रामलाल घायल हो गया। मौके पर मौजूद युवकों ने उसे श्रीनगर के सीएचसी अस्पताल पहुंचाया।

दूसरे पक्ष के समर्थकों की जवाबी कार्रवाई

हमले की जानकारी लगते ही रामलाल के समर्थक भी हथियारों से लैस होकर जगदीश गुर्जर की डेयरी पर जा पहुंचे। आरोप है कि उन्होंने डेयरी पर कार्यरत शंकर गुर्जर पर चाकू से हमला कर उसे जख्मी कर दिया। यहां खड़ी करीब ७ मोटरसाइकिलों पर पेट्रोल छिडक़कर आग लगा दी। मिठाई की दुकान और डेयरी में भी तोडफ़ोड की गई। उपद्रवियों ने अविनाश गुर्जर की मिठाई की दुकान में आग लगा दी।

पुलिस बल तैनात, एसपी भी पहुंचे

सूचना पर श्रीनगर थानाप्रभारी प्रभुदयाल वर्मा मय जाप्ता मौके पर पहुंचे। मांगलियावास और नसीराबाद थाने से भी जाप्ता बुलवा लिया गया। खूनी संघर्ष की सूचना पर पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप, केकड़ी एडिशनल एसपी जयनारायण मीणा, नसीराबाद सीओ सुनील कुमार सियाग भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने स्थिति को नियंत्रण में करते हुए उपद्रवियों को खदेडऩा शुरू किया। पुलिस ने उत्पात मचाने वाले आरोपियों को शांतिभंग में गिरफ्तार कर लिया।

एक-दूसरे खिलाफ तीन मामले दर्ज

बीर ग्राम में खूनी संघर्ष को लेकर तीन पक्षों ने थाने में अलग-अलग रिपोर्ट दर्ज कराई है। थानाप्रभारी वर्मा ने बताया कि प्रथम पक्ष के रामलाल गुर्जर ने रिपोर्ट दी कि शनिवार रात्रि ८ बजे वह अपनी डेयरी पर बैठा था। यहां अविनाश गुर्जर उसके भाई शैतान से गाली गलौंज कर रहा था। विरोध करने पर घात लगाकर बैठे जगदीश, हरिराम, गणेश, रामकरण, सीताराम, रामदेव सहित अन्य 10-15 जनों ने डेयरी के कांच तोड़ दिए। कुल्हाड़ी व लकड़ी से मारपीट कर जख्मी कर दिया।

मारपीट कर लूटी नकदी

दूसरे पक्ष के जगदीश गुर्जर ने रामलाल, नारायण, शैतान, सुरेश, सुरेन्द्र, जगदीश, देवकरण, सेवाराम गुर्जर, मुराद अली, जमील अहमद, मकसूद, हनीफ, इस्लाम, अकबर अली, सैयद फारुख अली व सैयद आरिफ अली के खिलाफ मामला दर्ज कराया। आरोप है कि लकड़ी व सरियों हमला कर डेयरी कर्मचारी शंकर को जख्मी कर दिया। साथ ही गल्ले में रखे 18 हजार रुपए लूटते हुए डेयरी के बाहर खड़ी बाइकों में पेट्रोल छिडक़कर आग लगा दी। जगदीश ने चुनावी रंजिश के चलते रामलाल गुट के लोगों पर हमले का आरोप लगाया।

तीसरा मुकदमा अविनाश गुर्जर की ओर से रामलाल, शैतान, नारायण, सुरेश, सुरेन्द्र, मुराद अली, जमील अहमद, मकसूद अली, जगदीश, हनीफ, इस्लाम, देवकरण, सेवाराम, अकबर अली, सैयद फारुख अली और सैयद आरिफ अली के खिलाफ दर्ज कराया है। इसमें बताया कि लकडिय़ों और सरियों से मारपीट की गई। मिठाई की दुकान को नुकसान पहुंचाया। हमलावर गल्ले से 21 हजार रुपए लूट कर ले गए।

शांतिभंग में पांच गिरफ्तार

पुलिस ने प्रकरण में मनोज गुर्जर, सुरेन्द्र गुर्जर, सैयद फारुख अली, अकबर व आरिफ को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

सरपंच चुनाव से पनपी रंजिश

बीर पंचायत में पिछले15 वर्ष से सरपंच का कार्य जगदीश गुर्जर देख रहा था। दो बार उसके पिता मानाराम गुर्जर सरपंच रहे। एक बार जगदीश की मां नानी देवी गुर्जर सरपंच रही। जनवरी 2020 के सरपंच चुनाव में जगदीश विरोधी रामलाल गुर्जर ने सायरा बानो का साथ देते हुए सरपंच की कुर्सी पर बिठा दिया। इसके बाद से ही रामलाल और जगदीश के बीच रंजिश चल रही थी।

हाल ही में 25 नवम्बर को पंचायत समिति सदस्य चुनाव में जगदीश ने अपने पुत्र सुरेश गुर्जर को कांग्रेस से टिकट दिलवाकर चुनाव मैदान में उतारा। आरोप है कि इस चुनाव में भी रामलाल व सरपंच सायरा बानो के समर्थकों ने जगदीश की खिलाफत की। ऐसे में शनिवार को दोनों पक्ष आमने-सामने हो गए।

अतिरिक्त जाप्ता हुआ तैनात

पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर रविवार को भी श्रीनगर केकड़ी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जयनारायण मीणा, नसीराबाद सीओ सुनिल कुमार सिहाग व श्रीनगर थानाप्रभारी प्रभुदयाल वर्मा अतिरिक्त जाप्ते के साथ मौजूद रहे तथा ग्राम के चप्पे-चप्पे पर कड़ी निगरानी बनाए रखी।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned