उधार की रकम मांगी तो दोस्त ने कुल्हाड़ी से उतारा मौत के घाट,आरोपी को पुलिस ने दबोचा

अधजले शव का खुलासा,एसपी ने टीम गठित कर हत्या के आरोपी को दबोचा,नकदी नहीं चुकाने पर भूखंड बेचने का तय हुआ था,आत्माराम ने प्लाट की मांग की तो आरोपी दबाव में आ गया। इससे मुक्ति पाने के लिए उसने अपने दोस्त का कत्ल कर दिया।

By: suresh bharti

Updated: 09 Jan 2021, 01:04 AM IST

अजमेर/झुंझुनूं. एक दोस्त इतना बेवफा निकला कि उधार की रकम चुकाना तो दूर,बल्कि मित्र की बेरहमी से हत्या कर दी। मृतक का बस इतना कसूर था कि उसने उधार की रकम चुकाने के लिए अपने दोस्त को तकाजा किया था। इससे आवेश में आए दोस्त ने कुल्हाड़ी से अपने सखा को मौत के घाट उतार दिया।

आरोपी युवक राजेश कुमार यादव

पुलिस ने एक सप्ताह पुराने झुंझुनूं जिले के पिलानी इलाके में रायला निवासी आत्माराम मेघवाल हत्याकाण्ड का शुक्रवार देर शाम खुलासा कर एक युवक को गिरफ्तार किया है। आरोपी युवक राजेश कुमार यादव है। पुलिस ने आरोपी को चार दिन के रिमाण्ड पर लिया है। मृतक व आरोपी दोनों आपस में दोस्त थे। पुलिस के अनुसार उधार की रकम मांगने पर यह हत्या की गई।

तीन लाख साठ हजार रुपए की उधारी

सीओ चिड़ावा सुरेश शर्मा ने बताया कि जिला पुलिस अधीक्षक मनीष त्रिपाठी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए टीम गठित की थी। टीम ने हरियाणा के भिवानी में छापामारी कर आरोपी को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि आरोपी से हुई पूछताछ में जानकारी मिली है कि मृतक रायला निवासी आत्माराम मेघवाल तथा आरोपी राजेश यादव में अच्छी दोस्ती थी।

प्लॉट पर कब्जा लेने का दबाव

आत्माराम ने राजेश को तीन लाख साठ हजार रुपए उधार दे रखे थे। रुपए नहीं देने पर बदले में प्लॉट देने की लिखावट कर रखी थी। काफी समय बीतने के बाद आत्माराम प्लॉट पर कब्जा लेने का दबाव बना रहा था। राजेश ने प्लॉट के बेचान की किसी और को भी नोटेरी करवा रखी थी। आत्माराम द्वारा दबाव बनाने पर राजेश 1 जनवरी को कब्जा देने पर सहमत हो गया था। बाद में राजेश ने आत्माराम को रास्ते से हटाने के लिए हत्या करने की योजना बनाई। राजेश ने 31 दिसम्बर को सुबह आत्माराम को जमीन पर कब्जा देने की बातचीत करने बुलाया था।

हत्या से पहले बीयर पिलाई, नया कुल्हाड़ा खरीदा

राजेश ने आत्माराम को पहले बीयर पीने के लिए राजी कर लिया। रास्ते में राजेश ने दो बीयर की बोतलें खरीदी तथा अपनी योजना के अनुसार बाजार से नया कुल्हाड़ा खरीदा। आत्माराम ने कुल्हाड़ा खरीदने की वजह पूछी तो राजेश ने बहाना बना लिया। राजेश व आत्माराम ने पहाड़ी के पास बैठ कर बीयर पी। इसी समय मौका पाकर राजेश ने आत्माराम की गर्दन पर कुल्हाड़े से वार कर दिया। बाद में आत्माराम की बाइक से पेट्रोल निकाल कर आत्माराम के कपड़ों पर उंडेल कर आग लगा दी। राजेश आत्माराम की बाइक तथा मोबाइल लेकर फरार हो गया। इसके बाद पहाड़ी के पास में 2 जनवरी को अधजला शव मिला। शव की पहचान रायला निवासी आत्माराम मेघवाल के रूप में हुई थी। उन्होंने बताया कि आरोपी को गिरफ्तारी में पुलिस अधिकारी दिलीप पूनिया, रामनिवास एवं राजकुमार की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned