CBSE: भरे लेटफीस देकर फॉर्म, अब परीक्षा पर निगाहें

सीबीएसई फॉर्म भरने का कोई अवसर नहीं देगा। फॉर्म नहीं भरने वाले विद्यार्थी परीक्षा नहीं दे सकेंगे।

By: raktim tiwari

Updated: 23 Aug 2020, 07:13 AM IST

अजमेर.

सीबीएसई की सप्लीमेंट्री और परफॉरमेंस सुधार परीक्षा फॉर्म भरने का काम पूरा हो गया। विद्यार्थियों ने दो हजार रुपए विलंब शुल्क से फॉर्म भरे। अब संभवत: सीबीएसई फॉर्म भरने का कोई अवसर नहीं देगा। फॉर्म नहीं भरने वाले विद्यार्थी परीक्षा नहीं दे सकेंगे।

सीबीएसई के अजमेर रीजन में इस बार बारहवीं में 10 हजार 361 विद्यार्थियों के सप्लीमेंट्री आई है। दसवीं में 3 हजार 559 विद्यार्थियों को सप्लीमेंट्री के योग्य माना गया है। इसके अलावा बोर्ड ने विद्यार्थियों को परफॉरमेंस सुधार परीक्षा का विकल्प भी दिया है। शनिवार को देर रात तक विलंब शुल्क से फॉर्म भरे गए। अब स्टूडेंट्स की नजरें टाइम टेबल और परीक्षा पर टिकी है।

परीक्षा हो या नहीं....
कोरोना संक्रमण के चलते कई राज्यों में हालात खराब हैं। परीक्षा के बजाय आंतरिक मूल्यांकन और पिछले प्रदर्शन के आधार पर विद्यार्थियों को उत्तीर्ण करने की मांग भी उठी है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने भी शिक्षाविदें से जानकारी मांगी है।

विद्यार्थियों को पहनने होंगे दस्ताने, हॉल में नहीं घूमेंगे शिक्षक

रक्तिम तिवारी/अजमेर. कोरोना संक्रमण के चलते नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के तत्वावधान में होने वाली नीट-2020 परीक्षा में कई नवाचार किए जाएंगे। परीक्षा हॉल/कमरे में शिक्षक घूमने के बजाय दूर से नजर रखेंगे। विद्यार्थियों को केंद्रों में दस्ताने पहनने के अलावा टॉयलेट जाने के लिए भी अनुमति लेनी होगी। एजेंसी ने परीक्षा को लेकर जरूरी निर्देश जारी किए हैं।

मेडिकल और डेंटल संस्थानों में प्रवेश के लिए 13 सितंबर को नीट का आयोजन होगा। पहले यह परीक्षा मई में होनी थी। लेकिन लॉकडाउन और कोरोना संक्रमण के चलते मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने इसे सितंबर में कराने का फैसला किया। विद्यार्थियों, शिक्षकों की सुरक्षा के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने खास निर्देश जारी किए हैं।

दो बार होगी तापमान की जांच
परीक्षा केंद्र में थर्मल स्कैनर से विद्यार्थियों को दो बार तापमान जांचा जाएगा। केंद्र पर एक-एक छात्र के प्रवेश पत्र, पहचान पत्र और अन्य दस्तावेजों की जांच होगी। शिक्षक किसी दस्तावेज को हाथ नहीं लगाएंगे। गेट पर तापमान जांचने के बाद आवंटित कमरे के बाहर तापमान जांचा जाएगा। किसी विद्यार्थी में कोरोना वायरस के लक्षण दिखने पर उसे अलग आईसोलेशन रूम में रखा जाएगा।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned