CBSE: केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाएं आज से

देश भर में 30 लाख 96 हजार 768 परीक्षार्थी
अजमेर में देंगे 9 हजार 439 विद्यार्थी परीक्षा

Preeti Bhatt

February, 1502:44 PM

अजमेर. केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Central Board of Secondary Education)की सीनियर सैकंडरी और सैकंडरी की परीक्षा (exam) 15 फरवरी से शुरू होगी। देश भर में 30 लाख 96 हजार 768 विद्यार्थी पंजीकृत हैं। अजमेर जिले में पंजीकृत विद्यार्थियों(students) की संख्या 9 हजार 439 है। परीक्षा में विशेष योग्यजन विद्यार्थियों को बेसिक केल्कुलेटर ले जाने की भी सुविधा मिलेगी।

परीक्षाएं सुबह 10.30 बजे प्रारंभ होगी लेकिन विद्यार्थियों को 10 बजे बाद परीक्षा केन्द्र में प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी। देश भर में दसवीं की परीक्षा में 18 लाख 89 हजार 875 परीक्षार्थी और सीनियर सैकंडरी के लिए 12 लाख 06 हजार 893 परीक्षार्थी पंजीकृत है।

अजमेर बोर्ड के तहत 2 लाख 5 हजार 30 विद्यार्थी

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर के तहत आने वाले राजस्थान और गुजरात में 2 लाख 5 हजार 30 विद्यार्थी पंजीकृत है। दसवीं में 1 लाख 14 हजार 456 और बारहवीं में 90 हजार 547 व दो ट्रांसजेंडर विद्यार्थी शामिल हैं। दोनों राज्यों में कुल 464 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं इनमें राजस्थान में 367 व गुजरात में 97 परीक्षा केन्द्र हैं।


जिले में महज 9 हजार 438 परीक्षार्थी

सीबीएसई परीक्षा में अजमेर जिले से महज 9 हजार 438 परीक्षार्थी पंजीकृत है। दसवीं में कुल परीक्षार्थी 5 हजार 377 है इनमें 3 हजार 146 छात्र और 2 हजार 231 छात्राएं हैं। बारहवी परीक्षा में 4 हजार 62 विद्यार्थी पंजीकृत है इनमें 2 हजार 231 छात्र व 1 हजार 812 छात्राएं हैं।

यह भी पढ़ें : आज परिजन के साथ कॉलेज पहुंचेंगे विद्यार्थी

होगा शिक्षक-अभिभावक संवाद कार्यक्रम
अजमेर. सभी कॉलेज में शनिवार को छात्र-छात्राएं अपने परिजन के साथ कॉलेज पहुंचेंगे। इस दौरान कॉलेज के विकास, शैक्षिक योजनाओं, सह शैक्षिक कार्यक्रमों पर चर्चा होगी।

कॉलेज शिक्षा विभाग ने सत्र 2019-20 से प्रदेश के सभी कॉलेज में शिक्षक-अभिभावक-विद्यार्थी संवाद कार्यक्रम शुरू करने का फैसला किया है। इसमें छात्र-छात्राओं को परिजन के साथ पहुंचना होगा। शनिवार को सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय, राजकीय कन्या महाविद्यालय, लॉ कॉलेज सहित राज्य के अन्य संस्थानों में यह कार्यक्रम होगा।

पहला कार्यक्रम रहा था फीका

बीते साल 12 अक्टूबर को पहली बार सभी कॉलेज में शिक्षक-अभिभावक-विद्यार्थी संवाद हुआ था। ज्यादातर छात्राएं और छात्र बिना अभिभावकों के कॉलेज पहुंचे थे। कन्या महाविद्यालय में 20, लॉ कॉलेज में 10, सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय में भी 30-40 अभिभावक ही पहुंचे थे।

Show More
Preeti Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned