scriptChambal came to increase the family, the beautiful 'Panchira' | कुनबा बढ़ाने चंबल आया लाल चोंच का सुंदर 'पनचीराÓ, लुभा रहीं अठखेलियां | Patrika News

कुनबा बढ़ाने चंबल आया लाल चोंच का सुंदर 'पनचीराÓ, लुभा रहीं अठखेलियां

- लोगों को आकर्षित कर रही लुप्तप्राय इंडियन स्कीमर की कलाबाजियां - गुजरात, आंध्र प्रदेश और बांग्लादेश तक भरता है उड़ान - इन दिनों चंबल पर दिख रहा करीब 50 पक्षियों का झुंड

विलुप्त होने की कगार पर खड़े खूबसूरत और आकर्षक लाल चोंच के पक्षी इंडियन स्कीमर की उड़ान चंबल पर शुरू हो गई है। जिला शुभंकर इस पक्षी की उड़ान और अठखेलियां चंबल पर लोगों को आकर्षित कर रही हैं।

अजमेर

Published: January 10, 2022 02:30:52 am

धौलपुर. विलुप्त होने की कगार पर खड़े खूबसूरत और आकर्षक लाल चोंच के पक्षी इंडियन स्कीमर की उड़ान चंबल पर शुरू हो गई है। जिला शुभंकर इस पक्षी की उड़ान और अठखेलियां चंबल पर लोगों को आकर्षित कर रही हैं। इस समय इसे चंबल में जलक्रीड़ा करते देखा जा सकता है। चंबल पर करीब 50 की संख्या का झुंड इन दिनों देखा जा रहा है। चंबल के टापूओं पर इनका शोर और मछली पकडऩे के दौरान इनकी कलाबाजी वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफरों और बर्ड वॉचर्स को अपनी ओर आकर्षित कर रही है। इस पक्षी के लिए चंबल प्राकृतिक रहवास है। ये सुंदर पक्षी वर्ष के करीब नौ महीने तक चंबल नदी के रेतीले टापुओं पर कलरव करते और पानी की सतह पर अठखेलियां करते नजर आ जाते हैं। जुलाई-अगस्त महीने में यहां से उड़कर ये गुजरात व आंध्र प्रदेश से लेकर पड़ोसी देश बांग्लादेश तक चले जाते हैं।
कुनबा बढ़ाने चंबल आया लाल चोंच का सुंदर 'पनचीराÓ, लुभा रहीं अठखेलियां
कुनबा बढ़ाने चंबल आया लाल चोंच का सुंदर 'पनचीराÓ, लुभा रहीं अठखेलियां
10 साल में हो गए 224 से 550

चंबल जिस तरह घडिय़ालों के लिए जीवनदायिनी है, उसी तरह इंडियन स्कीमर के लिए भी है। राष्ट्रीय चंबल अभयारण्य के रेकार्ड के मुताबिक वर्ष 2011 में चंबल नदी में 224 इंडियन स्कीमर गिने गए थे। साल 2021 में हुई गणना में इनकी संख्या 550 तक बताई गई है।
मार्च से मई तक प्रजनन काल

मार्च से मई महीने तक इन पक्षियों का प्रजनन काल होता है। जुलाई-अगस्त में इनके ब'चे उड़ान भरने लायक हो जाते हैं। इसी दौरान बारिश के कारण चंबल नदी का जलस्तर बढ़ता है और टापू डूब जाते हैं। इसलिए ये यहां से उड़ जाते हैं, फिर नवंबर-दिसंबर में लौटते हैं।
गुजरात, आंध्र और बांग्लादेश तक उड़ान

इंडियन स्कीमर गुजरात के जामनगर, आंध्रप्रदेश के काकीनाड़ा क्षेत्र के अलावा बांग्लादेश के निझुम द्वीप पर पहुंच जाते हैं। एक महीने में यह पक्षी चंबल नदी से आंध्र प्रदेश, गुजरात से बांग्लादेश तक पहुंचता है, वहां एक-सवा महीने रुकता है फिर वापस चंबल में आ जाता है।
पानी की स्व'छता बढ़ाने में सहायक

इंडियन स्कीमर साफ पानी के किनारे, गीली व भरपूर नमी वाली रेत के टापुओं पर वंश वृद्धि करता है। यह पक्षी उड़ते हुए पानी में तैरती मछलियों का शिकार करता है। यह पानी की सतह पर आई मरी हुई मछलियों के अलावा ऐसी मछलियों का शिकार करता है, जो पानी में गंदगी बढ़ाती हैं।
पानी को चीर करता शिकार

इंडियन स्कीमर का शिकार का अंदाज अलग है। यह पानी को चीरता हुआ शिकार करता है। पानी को चीरने की कला में माहिर होने के कारण इसे पनचीरा नाम से भी जाना जाता है।
रास आती हैं चंबल की वादियां

दुनिया में लुप्त की कगार पर पहुंचे पनचीरा पक्षी को चंबल की आबोहवा खूब रास आती है। विशेषज्ञ बताते है कि दुनिया भर में जितनी संख्या है उसके 70 फीसदी पक्षी चंबल में पाए जाते हैं।
ब'चे बदलते हैं रंग

इंडियन स्कीमर के ब'चे जन्म के समय भूरे रंग के होते है। वयस्क होने पर गुलाबी लंबी चोंच, सफेद गर्दन, गुलाबी पैर और काले रंग का धड़ होता है।
इनका कहना है

विलुप्तप्राय इंडियन स्कीमर का आना शुभ संकेत है। विभाग के कर्मचारी इन पर नजर बनाए हुए हैं। लोगों में भी इन्हें लेकर जागरुकता पैदा की जाएगी।
- अनिल यादव, डीएफओ, राष्ट्रीय चंबल अभयारण्य, सवाई माधोपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

India-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमानयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रUP assembly elections 2022: अखिलेश के वादाखिलाफी पर फूट-फूट कर रोई पूर्व मंत्री की पत्नी शमा वसीम, सपा पर भारी पड़ सकता है आंसूWeather News- दो दिन बाद मिलेगी सर्दी से राहत, तापमान में होगी बढ़ोतरीस्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- अभी कोरोना का खतरा बरकरार, 11 राज्यों में 50 हजार से ज्यादा एक्टिव केस, संक्रमण दर 17.75 फीसदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.