Changing Trend: 4.14 लाख अभ्यर्थी नहीं बैठे परीक्षा में, ये है असली वजह

तीन दिन हुई सब इंस्पेक्टर-प्लाटून कमांडर भर्ती परीक्षा। अब आयोग जुटेगा परिणाम की तैयारी में।

By: raktim tiwari

Published: 16 Sep 2021, 09:21 AM IST

अजमेर. राजस्थान लोक सेवा आयोग की सब इंस्पेक्टर और प्लाटून कमांडर भर्ती परीक्षा में लगातार तीसरे दिन उपस्थिति का ग्राफ नहीं बढ़ पाया। राज्य के सात संभाग और चार जिला मुख्यालयों पर बुधवार को भी उपस्थिति 50 प्रतिशत से भी कम रही। परीक्षा के लिए कुल पंजीकृत अभ्यर्थियों में से 4.14 लाख अभ्यर्थी परीक्षा से दूर रहे। इसके पीछे बड़ी वजह अन्य परीक्षाओं को प्राथमिकता और कोरोना संक्रमण भी है।

4 लाख से ज्यादा अभ्यर्थी रहे दूर
परीक्षा के लिए 7 लाख 97 हजार 030 आवेदन मिलेथे। तीनों दिन प्रथम सत्र में 3 लाख 83 हजार 728 तथा द्वितीय सत्र में 3 लाख 83 हजार 235 अभ्यर्थी शामिल हुए। कुल आवेदकों में से 4 लाख 14 हजार से ज्यादा अभ्यर्थियों ने परीक्षा नहीं दी।

यूं चली परीक्षा
सब इंस्पेक्टर और प्लाटून कमांडर के 859 पदों की भर्ती के लिए आयोग ने परीक्षा कराई। तीनों दिन प्रथम और द्वितीय पारी में 47.51 से 48.32 प्रतिशत अभ्यर्थी ही शामिल हुए। परीक्षा खत्म होने के बाद आयोग अभ्यर्थियों की ओएमआर शीट जांचेगा। इसके बाद नतीजा जारी होगा।

अब डिबार-ब्लैक लिस्ट की कार्रवाई
उदयपुर में राजकीय बालिका विद्यालय में अभ्यर्थी के बालों की विग में ब्लूटूथ छिपाने, पाली में अभ्यर्थी के परीक्षा केंद्र में मोबाइल और ब्लूटूथ लेकर पहुंचने का मामला पकड़ा गया। बीकानेर रामसहाय स्कूल के प्रधानाचार्य दिनेश चौहान एवं एक कोचिंग सेंटर के संचालक राजू मैट्रिक समेत दस लोगों को गिरफ्तार किया गया। आयोग पुलिस और प्रशासन से रिपोर्ट मिलने के बाद अभ्यर्थियों को डिबार और सेंटर को ब्लैक लिस्ट करेगा।

राज्य में तीन दिन उपस्थिति
13 सितंबर-उपस्थिति: 1 लाख 26 हजार 305 (47.54 प्रतिशत), अनुपस्थित:1 लाख 93 हजार 072
14 सितंबर- उपस्थित: 1 लाख 36 हजार 594 (48.59 प्रतिशत), अनुपस्थित-1 लाख 36 हजार 594
15 सितंबर- उपस्थित पहली पारी: 1 लाख 28 हजार 836 (48.32 प्रतिशत), अनुपस्थित: 1 लाख 37 हजार 295

कोरोना से गिरा उपस्थिति ग्राफ....
सब इंस्पेक्टर परीक्षा के लिए 7 लाख 97 अभ्यर्थियों ने आवेदन किए हैं। लेकिन दो दिन में अभ्यर्थियों का ग्राफ 50 प्रतिशत से नीचे रहा है। महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के मैनेजमेंट विभागाध्यक्ष और प्लेसमेंट सेल समन्वयक प्रो. शिवप्रसाद ने बताया कि पिछले डेढ़ साल से कोरोना संक्रमण का दौर चलने से परीक्षाओं में उपस्थिति कम दिख रही है। कई अभ्यर्थी रीट, आरएएस 2021, कॉलेज लेक्चरर, आईएएस प्री और अन्य प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में लगे हैं। कई अभ्यर्थी तैयारी नहीं होने से परीक्षा नहीं देते हैं।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned