जमीन का पट्टा जारी करने के बदले घूस लेता चिड़ावा नगर पालिका का ईओ गिरफ्तार

90 ए और पट्टा जारी करने की एवज में मांगी थी घूस, पीडि़त ने एसीबी में कराई थी शिकायत दर्ज,इसकी सत्यता जांच के बाद एसीबी ने कर्रवाई की

By: suresh bharti

Published: 13 Nov 2020, 11:55 PM IST

अजमेर/झुंझुनूं. एक लालची सरकारी अधिकारी को दीपावली जेल में बितानी पड़ेगी। रिश्वत की राशि लेते भ्रष्टाचार निरोधक विभाग ने उसे रंगहाथ गिरफ्तार कर लिया। झुंझुनूं जिले के चिड़ावा नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी के खिलाफ एसीबी में शिकायत की गई थी। इसका सत्यापन करने के बाद यह कार्रवाई की गई।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) जयपुर की टीम ने शुक्रवार सुबह चिड़ावा ईओ अनिल चौधरी को तीन लाख की रिश्वत लेते धर-दबोचा। रिश्वत की यह राशि 90 ए और पट्टा जारी करने की एवज में मांगी गई थी। एसीबी की टीम ने ईओ चौधरी के घर पर जांच-पड़ताल भी की।

घूस लेते ही पकड़ा

जयपुर ब्यूरो के एएसपी पुष्पेंद्रसिंह ने बताया कि परिवादी चौधरी कॉलोनी, चिड़ावा निवासी वीरेंद्र भालोठिया ने परिवाद देकर बताया कि चिड़ावा शहर में उसके प्लॉट की 90 ए और पट्टे के लिए ईओ चौधरी की ओर से 12 लाख रुपए की रिश्वत मांगी जा रही है। इस पर एसीबी ने गुरुवार को शिकायत का सत्यापन करवाया, जिसमें शिकायत सही मिली। इसके बाद शुक्रवार सुबह एसीबी ने ट्रेप के लिए जाल बिछाया।
परिवादी भालोठिया को ईओ चौधरी के निवास स्थल डांगर रोड, चिड़ावा भेजा, जहां परिवादी भालोठिया ने ईओ चौधरी को रिश्वत की राशि दी। इस बीच इशारा पाकर टीम ने ईओ को रिश्वत की राशि के साथ ट्रेप कर लिया। इसके बाद सर्च अभियान चलाया गया। कागजी कार्रवाई के बाद दोपहर में ईओ चौधरी को गिरफ्तार कर लिया गया। एसीबी टीम में डीएसपी मांगीराम, डीएसपी(टीएलओ) राजेशसिंह आदि शामिल रहे।

12 लाख की जगह चार लाख में सौदा

एसीबी के एएसपी पुष्पेंद्रसिंह ने बताया कि परिवादी भालोठिया ने नगरपालिका में पट्टे और 90 ए के लिए आवेदन कर रखा था। इसकी एवज में रिश्वत मांगी जा रही थी। उन्होंने बताया कि ईओ चौधरी ने 12 लाख रुपए मांगे थे। सौदा चार लाख रुपए में तय हुआ। इसके बाद परिवादी तीन लाख रुपए लेकर ईओ के पास पहुंचा था।

18 मार्च को संभाला था कार्यभार

चौधरी ने 18 मार्च 2020 को बतौर ईओ कार्यभार ग्रहण किया था। जो कि झुंझुनूं नगर परिषद में सहायक अभियंता (विद्युत) के पद पर कार्यरत था, जिसे तत्कालीन ईओ अनिता खीचड़ के एपीओ होने पर चिड़ावा का चार्ज दिया गया था। ौधरी के पास सूरजगढ़ नगरपालिका का भी चार्ज था।

घर पर चला सर्च अभियान

एसीबी की कार्रवाई के बाद ईओ चौधरी के घर पर सर्च अभियान चलाया गया। एसीबी टीम ने करीब चार-पांच घंटे तक पूछताछ कर तलाशी ली। टीम ने ईओ के घर से कुछ दस्तावेज भी जब्त किए हैं। घर में जांच-पड़ताल के बाद एसीबी टीम नगर पालिका भी पहुंची, जहां अवकाश होने के चलते जांच-पड़ताल नहीं हो सकी।

निजी वाहनों में पहुंची टीम

ईओ चौधरी को ट्रेप करने के लिए एसीबी की टीम जयपुर से निजी वाहनों से पहुंची। टीम सदस्य तीन अलग-अलग गाडिय़ों में डांगर रोड पर ईओ चौधरी के निवास पर पहुंची। ऐहतियात के तौर पर चिड़ावा पुलिस को भी बुलाया गया।

कई वर्षों से गृह जिले में जमे चौधरी

नगर पालिकाओं में कई ईओ गृह जिले के हैं। जो कई वर्षों से एक ही जिले में जमे हुए हैं। इस कारण अब लोग सीकर व जयपुर एसीबी में शिकायतें कर रहे हैं। जिले में दो दिन में दो कार्रवाई हुई और दोनों सीकर व जयपुर की टीम ने की

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned