scriptClaim to be a Hindu temple in Ajmer Dargah | अजमेर दरगाह में हिन्दू मंदिर होने का दावा, मुख्यमंत्री से सर्वे की मांग | Patrika News

अजमेर दरगाह में हिन्दू मंदिर होने का दावा, मुख्यमंत्री से सर्वे की मांग

हडक़ंप: दिल्ली की महाराणा प्रताप सेना का पत्र वायरल

अजमेर

Updated: May 27, 2022 08:08:22 am

अजमेर . काशी में ज्ञानवापी मस्जिद से शुरू हुआ मंदिर-मस्जिद का विवाद अब राजस्थान तक पहुंच गया है। दिल्ली के संगठन महाराणा प्रताप सेना ने गुरुवार को अजमेर स्थित ख्वाजा साहब की दरगाह में हिन्दू मंदिर व स्वास्तिक के चिह्न होने का दावा करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग से सर्वे की मांग की है। संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजवर्धन ङ्क्षसह परमार ने कहा कि सात दिन में अगर सर्वे नहीं हुआ तो वे दो हजार कार्यकर्ताओं के साथ अजमेर जाकर आंदोलन करेंगे।
अजमेर दरगाह में हिन्दू मंदिर होने का दावा, मुख्यमंत्री से सर्वे की मांग
सोशल मीडिया पर वायरल फोटो जिसमें स्वस्तिक का निशान दिखाया गया है
अजमेर दरगाह में हिन्दू मंदिर होने का दावा, मुख्यमंत्री से सर्वे की मांगसंगठन का पत्र गुरुवार को सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद दरगाह परिसर में अतिरिक्त जाप्ता तैनात किया गया। देर रात पुलिस ने ढाई दिन के झोपड़े को भी सुरक्षा घेरे में ले लिया। हालांकि अधिकारी सुरक्षा बढ़ाने के पीछे 27 मई को जुमे पर जुटने वाली भीड़ का तर्क देते रहे। एडीएम (शहर) भावना गर्ग ने भी कहा कि वे दरगाह में सफाई, पेयजल व्यवस्था देखने गईं थीं।
स्वस्तिक के प्रतीक चिह्न...
दरअसल संगठन ने दावा किया है कि दरगाह में प्राचीन हिन्दू मंदिर है क्योंकि इसकी दीवारों से ङ्क्षहदू धर्म से संबंधित स्वस्तिक के प्रतीक चिह्न मिले हैं। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग द्वारा सर्वे कराया जाए, तो हिन्दू मंदिर होने के सबूत मिलेंगे।
अजमेर दरगाह में हिन्दू मंदिर होने का दावा, मुख्यमंत्री से सर्वे की मांगवायरल चित्र ढाई दिन के झोपड़े का
संगठन के दावे में स्वस्तिक के निशान की जो फोटो वायरल हो रही है, वह ढाई दिन के झोपड़े की है। पत्र वायरल होने पर जिला कलक्टर अंशदीप के निर्देश पर एडीएम सिटी भावना गर्ग, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) वैभव शर्मा सहित अन्य अधिकारी दरगाह पहुंचे।
हम इस दावे को सिरे से खारिज करते हैं...
कुछ शरारती तत्व हैं, जो अराजकता फैलाने चाहते हैं। दरगाह शरीफ में ऐसा कोई चिह्न नहीं है। इस दावे को हम सिरे से खारिज करते हैं। ख्वाजा साहब का दरबार 850 साल से यहां पर है। यहां पर हमारे पूर्वजों की मजार हैं। पूरा ढांचा हमारे बुजुर्गों की हड्डियों पर बना हुआ है। मोइन हुसैन चिश्ती, सदर अंजुमन सैयदजादगान
Ajmer Dargah: जानें क्या है महाराणा प्रताप सेना का पत्र, जिससे शुरू हुआ विवाद, देखें सुरक्षा इंतजाम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

हैदराबाद : बीजेपी की बैठक का आज दूसरा दिन, पीएम मोदी करेंगे संबोधितMaharashtra Politics: सीएम शिंदे और डिप्टी सीएम फडणवीस को गर्वनर भगत सिंह कोश्यारी ने खिलाई मिठाई, तो चढ़ गया सियासी पारा!NIA की टीम ने केमिस्ट की हत्या की जांच के लिए महाराष्ट्र के अमरावती का किया दौराभाजपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में 'अर्थव्यवस्था' और 'गरीब कल्याण' पर प्रस्ताव किया पारित, साथ ही की 'अग्निपथ योजना' की सराहनाUdaipur murder case: गुस्साए वकीलों ने कन्हैया के हत्यारों के जड़े थप्पड़, देखें वीडियोजयपुर में केमिकल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, एक किलोमीटर दूर तक दिखाई दे रहा धुएं का गुबारAmravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.