scriptCM Gehlot: RPSC change Mall practice in recruitments assumption | CM Gehlot: नौकरियों में पैसा चलता है, इस धारणा को बदले आरपीएससी | Patrika News

CM Gehlot: नौकरियों में पैसा चलता है, इस धारणा को बदले आरपीएससी

राजस्थान लोक सेवा आयोग को हर साल एडवांस कलैंडर जारी कर नियमित भर्तियां-परीक्षाएं करानी चाहिए।

अजमेर

Published: December 23, 2021 05:26:57 pm

अजमेर.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि लाखों युवाओं-बेरोजगारों को नौकरियों की उम्मीदें रहती हैं। हम बचपन में सुनते थे ..भर्तियों में पैसा चलता होगा सिफारिश लगानी पड़ती होगी...। ऐसी बातों से बिना मतलब चेयरमैन और मेंबर बदनाम होते हैं। यह भ्रांतियां अब दूर होनी चाहिए। राजस्थान लोक सेवा आयोग को हर साल एडवांस कलैंडर जारी कर नियमित भर्तियां-परीक्षाएं करानी चाहिए।
CM Ashok gehlot
CM Ashok gehlot
आरपीएससी के 73 वें स्थापना दिवस पर गहलोत ने कहा कि लिटिगेशन, पदों की गणना, आंसर-की जैसी तकनीकी बाधाएं भर्तियां में देरी करती हैं। साल 2018 की कई भर्तियां अब तक जारी हैं। ऐसी स्थिति नहीं बने इसके लिए प्रेक्टिस को बदलने की जरूरत है।
नियम बदलने पड़ें तो तुरन्त बदलें। हमने एम. एल. कुमावत कमेटी की सिफारिश अनुसार प्रक्रिया तय की है। कार्मिक विभाग उसी डेडलाइन के अनुसार विभागवार अभ्यर्थनाएं भेजेगा। आरपीएससी निश्चित तौर पर नवाचार-भर्तियों में अग्रणीय है। हर साल एडवांस में यूपीएससी की तर्ज पर हर साल कलैंडर फिक्स कर उसके अनुसार भर्तियां, परीक्षाएं और परिणाम जारी होने चाहिए। इससे युवाओं को त्वरित नौकरियां मिलेंगी। कार्यवाहक अध्यक्ष डॉ. शिवसिंह राठौड़ ने ऑनलाइन मार्र्किंग-जांच और अन्य नवाचारों की जानकारी दी। सदस्य डॉ. जसवंत राठी ने धन्यवाद दिया।
बदनामी की जगह प्रशंसा हो..
गहलोत ने कहा कि बेरोजगारों-अभ्यर्थियों में पैसा और सिफारिश चलने जैसी भ्रांतियां बनी रहती हैं। इससे संस्थानों, स्टाफ और व्यक्तियों की बदनामी होती है। भर्तियां नियमित, पारदर्शिता और ईमानदारी से हों इसकी जिम्मेदारी सरकार, कार्मिक विभाग के साथ-साथ आरपीएससी के स्टाफ की भी है।
आईटी से करें नवाचार
गहलोत ने कहा कि पूर्व पीएम राजीव गांधी ने कंप्यूटरीकरण शुरू किया तो सोचा भी नहीं था जमाना एडवांस हो जाएगा। हम आरटीआई एक्ट, मोबाइल, आईटी-डिजिटल क्रांति में जी रहे हैं। अब नॉलेज पावरफुल है। चंद सेकंड में सूचनाएं इधर-उधर होती हैं। आईटी के माध्यम से आयोग को अपनी कार्यप्रणाली युवाओं-बेरोजगारों को बतानी चाहिए। नवाचार करने चाहिए, ताकि कामकाज त्वरित हो।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कम उम्र में ही दौलत शोहरत हासिल कर लेते हैं इन 4 राशियों के लोग, होते हैं मेहनतीबाघिन के हमले से वाइल्ड बोर ढेर, देखते रहे गए पर्यटक, देखें टाइगर के शिकार का लाइव वीडियोइन 4 राशि की लड़कियों का हर जगह रहता है दबदबा, हर किसी पर पड़ती हैं भारीआनंद महिंद्रा ने पूरा किया वादा, जुगाड़ जीप बनाने वाले शख्स को बदले में दी नई Mahindra BoleroFace Moles Astrology: चेहरे की इन जगहों पर तिल होना धनवान होने की मानी जाती है निशानीइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशदेश में धूम मचाने आ रही हैं Maruti की ये शानदार CNG कारें, हैचबैक से लेकर SUV जैसी गाड़ियां शामिल

बड़ी खबरें

Republic Day 2022 LIVE updates: राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की मौजूदगी में शौर्य का प्रदर्शनरेलवे का बड़ा फैसला: NTPC और लेवल-1 परीक्षा पर रोक, रिजल्‍ट पर पुर्नविचार के लिए कमेटी गठितRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस पर दिल्ली की किलेबंदी, जमीन से आसमान तक करीब 50 हजार सुरक्षाबल मुस्तैदRepublic Day 2022: पीएम मोदी किस राज्य का टोपी और गमछा पहनकर पहुंचे गणतंत्र दिवस समारोह में, जानें क्या है खास वजहरायबरेली में जहरीली शराब पीने से 6 की मौत, कई गंभीर, जांच के आदेशआरपीएन सिंह के पार्टी छोड़ने पर बोले सीएम गहलोत, आने वालों का स्वागत तो जाने वालों का भी स्वागतNH का पुल उड़ाने लगाया टाइम बम, CM योगी को भी धमकायारेलवे ट्रेक पर प्रदर्शन किया तो कभी नहीं मिलेगी नौकरी, पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.