Cold Ajmer: बरसात से बढ़ी सर्दी, धुंध और बादलों में लिपटा सूरज

नलों में पानी भी बर्फीला महसूस हो रहा है। धूप निकलने के बाद मौसम कुछ सामान्य हुआ। लेकिन शीतलहर से सिहरन बनी हुई है।

By: raktim tiwari

Published: 26 Nov 2020, 10:34 AM IST

अजमेर.

बिगड़े मौसम और बरसात के बाद गुरुवार को सूरज बादलों की कैद से बाहर निकला है। सुबह आसमान पर छिटपुट बादल मंडराए। शीतलहर ने लोगों के हाड़ कंपकंपा दिए हैं। न्यूनतम तापमान 9 डिग्री पर पहुंच गया है।

बुधवार को ओलों संग हुई बरसात का मौसम पर असर नजर आया। गुरुवार अलसुबह से बर्फीली ठंडक बनी रही। शीतलहर ने लोगों को धुजा दिया। वाहनों, पेड़-पौधों और जमीन पर ओस नजर आई है। नलों में पानी भी बर्फीला महसूस हो रहा है। धूप निकलने के बाद मौसम कुछ सामान्य हुआ। लेकिन शीतलहर से सिहरन बनी हुई है।

हीटर और अलाव बने सहारा

कड़ाके की ठंड में हीटर और अलाव लोगों का सहारा बने हुए हैं। शहर में जयपुर रोड, वैशाली नगर स्टेशन रोड, बजरंगगढ़ चौराहा, कचहरीर रोड, मदार गेट और अन्य जगह लोग सूखी पत्तियों और लकडिय़ों से अलाव जलाकर सर्दी से राहत पाते दिखे। घरों-दफ्तरों में हीटर जलते नजर आ रहे हैं। रात के तापमान में करीब 8 डिग्री की गिरावट बनी हुई है।

निवार का असर
पश्चिमी विक्षोभ और तमिलनाडु में चक्रवाती तूफान निवार के असर से मौसम में बदलाव हुआ है। मौसम विभाग ने आगामी तीन दिन तक शीतलहर की चेतावनी दी है। कई इलाकों में बादल छाने और बरसात ही संभावना जताई गई है दिसंबर से फरवरी में कड़ाके की ठंड पड़ेगी। इस दौरान घना कोहरा छाने अलावा कई इलाकों में तापमान में गिरावट भी हो सकती है। मैदानी और पहाड़ी इलाकों में तेज सर्दी से पाला पड़ सकता है।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned