अजमेर में सामुदायिक संक्रमण!

जिम्मेदारों की चुप्पी, अजमेर शहर के सभी क्षेत्रों में कोरोना के आ रहे मामले, मुस्लिम मोची मोहल्ला से पहाडग़ंज तक डेढ़ माह से बनी थी कोरोना चेन, बुजुर्गों की जान को खतरा, अब 70 से अधिक उम्र के संक्रमितों पर भी काल का साया

By: CP

Published: 20 Jul 2020, 07:02 AM IST

चन्द्र प्रकाश जोशी

अजमेर. अजमेर में कोरोना सामुदायिक संक्रमण का रूप ले चुका है। कोरोना संक्रमण के चलते अजमेर शहर चारों खाने चित्त हो रहा है। पहले हॉटस्पॉट मुस्लिम मोची मोहल्ला की कोरोना चेन पहाडग़ंज तक जुड़ गई है। जिन क्षेत्रों में पॉजिटिव केस सामने आए उसके बाद परिजन व आसपास के कई लोग संक्रमित पाए गए हैं। हालांकि चिकित्सा विशेषज्ञ एवं जिम्मेदार अधिकारी सामुदायिक संक्रमण की हामी तो भर रहे हैं, लेकिन साथ ही इस पर और पड़ताल की जरूरत भी बता रहे हैं।

अजमेर जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1200 तक पहुंच गया है। इनमें सर्वाधिक 950 अकेले अजमेर शहर के हैं। यही नहीं, पिछले 9 दिनों में औसतन 70 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रविवार को तो करीब 150 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। जबकि सर्वाधिक मौतें 50 से 80 आयुवर्ग के कोरोना संक्रमितों की हुई है।

अजमेर के प्रमुख हॉटस्पॉट

-मुस्लिम मोची मोहल्ला
-पहाडग़ंज-जटिया बस्ती (मलूसर रोड) शादी समारोह में संक्रमण की बेलब्यावर में शादी समारोह से पुष्कर के नाला निवासी परिवार सहित करीब 30 से अधिक व्यक्ति संक्रमित हुए। अजमेर में दो अन्य शादियों में दो नवविवाहित जोड़े, उनके परिजन व मेहमान संक्रमित हो गए। पहाडग़ंज भी शादी समारोह से हॉटस्पॉट बना। ऐसे बदलती गई संक्रमण की तस्वीरतिथि सैंपल पॉजिटिव मौत

1 अप्रेल 194 05 -
16 अप्रेल 880 06 -

1 मई 3549 160 -
29 मई 15094 328 8

16 जून 25000 428 12
30 जून 25111 514 18

01 जुलाई 25441 522 18
19 जुलाई 40000 126 38सरकार ने बदली गाइड लाइन चिकित्सकों के अनुसार केन्द्र सरकार की ओर से गाइड लाइन में बदलाव के चलते अब मरीजों की कॉन्टेक्ट हिस्ट्री अनिवार्य की शर्त समाप्त कर दी गई है। क्या कहते हैं चिकित्सकआप सामुदायिक संक्रमण मान सकते हो। अभी भी संक्रमित केस आदि को लेकर अध्ययन की जरूरत है। लेकिन कोरोना संक्रमित केस सभी जगह से आ रहे हैं। डॉ. संजीव माहेश्वरी

वरिष्ठ फिजिशियन, जेएलएन मेडिकल कॉलेजअभी तक जो भी संक्रमित मरीज आए हैं अधिकांश की कॉन्टेक्ट हिस्ट्री है। अलग से केस कम आए हैं। हर क्षेत्र में पांच से छह केस नए आ रहे हैं। एसिम्टोमेटिक मरीज अधिक आ रहे हैं। सामुदायिक संक्रमण नहीं कह सकते।डॉ. के.के.सोनी, सीएमएचओअभी तक डब्ल्यूएचओ की गाइड लाइन अनुसार सामुदायिक संक्रमण नहीं है। 70 प्रतिशत मरीजों की कॉन्टेक्ट हिस्ट्री मिली है। जबकि 30 प्रतिशत की कोई कॉन्टेक्ट हिस्ट्री नहीं है। यह बड़े स्तर पर रिसर्च का विषय है।मुकेश खोरवाल, जिला महामारी रोग विशेषज्ञबॉक्स......फैक्ट फाइल
40,000 सैंपल लिए गए अब तक

1147 अब तक पॉजिटिव
658 मरीज डिस्चार्ज

415 एक्टिव केस
130 माइग्रेंट मरीज

CP Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned