Congress allegate: ये है बिना फ्लाइट्स का एयरपोर्ट, करोड़ों खर्च करने के बाद भी रिजल्ट जीरो

इस पर सवा करोड़ रुपए से ज्यादा प्रतिमाह खर्च किया जा रहा है, जबकि आय एक रुपया भी नहीं हो रही है।

By: raktim tiwari

Published: 16 May 2018, 08:07 AM IST

अजमेर।

सांसद रघु शर्मा ने किशनगढ़ हवाई अड्डे से उड़ान बंद होने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। उन्होंने कहा कि किशनगढ़ में बिना जहाज के हवाई अड्डा चल रहा है। इस पर सवा करोड़ रुपए से ज्यादा प्रतिमाह खर्च किया जा रहा है, जबकि आय एक रुपया भी नहीं हो रही है। प्रदेश में लोकसभा उपचुनाव से पहले श्रेय और वोट लेने के लिए रातों रात हवाई अड्डे का उद्घाटन कर दिया गया, तब दावा किया गया कि किशनगढ़ से दिल्ली व उदयपुर आदि की हवाई सेवाएं शुरू होंगी। केवल एक माह किशनगढ़ से उदयपुर की सेवा चली।

अजमेर देहात कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह राठौड़, शहर कांग्रेस अध्यक्ष विजय जैन, महासचिव शिवकुमार बंसल, सरवाड़ पंचायत समिति के सदस्य शक्ति प्रताप सिंह राठौड़ आदि ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर किशनगढ़ हवाई अड्डे से नियमित उड़ान चालू करने की मांग की है।

यूं बना एयरपोर्ट
किशनगढ़ में एयरपोर्ट का शिलान्यास तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह न वर्ष 2013 में सितम्बर में किया था। तत्कालीन संचार राज्यमंत्री और मौजूदा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट की इसमें अहम भूमिका रही थी। किशनगढ़ एयरपोर्ट पिछले साल बनकर तैयार हो गया। इसका श्रेय लेने में कांग्रेस और भाजपा में होड़ मच गई। लोकसभा उप चुनाव के चलते राज्य सरकार ने आनन-फानन में नागरिक उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा को बुलाकर इसका उद्घाटन करा दिया। लेकिन यहां नियमित फ्लाइट्स शुरू नहीं हो पाई है।

कांग्रेस ने लगाए कई आरोप
भाजपा का एयरपोर्ट को अपने कार्यकाल की उपलब्धि बताने पर कांग्रेस ने उसे कई बार आड़े हाथों लिया है। कांग्रेस का कहना है, कि भाजपा सिर्फ कांग्रेस राज की योजनाओं और वृहद परियोजनाओं के फीते काटने का काम करती रही है। भाजपा के पास पिछले चार साल में बताने लायक एक भी उपलब्धि नहीं है। जबकि भाजपा का कहना है, कि कांग्रेस ने 60 साल तक जनता के साथ मजाक किया है। योजनाओं को लम्बित रखना और कथित भ्रष्टाचार के अलावा कांग्रेस के पास गिनाने लायक कुछ नहीं है।

घाटे का सौदा किशनगढ़ एयरपोर्ट?
किशनगढ़ एयरपोर्ट का उदघाटन हुए करीब सात महीने बीत चुके हैं। इसके बावजूद यहां से नियमित फ्लाइट्स की आवाजाही शुरू नहीं हो पाई है। दिल्ली, मुम्बई, कोलकाता और देश के अन्य शहरों के मुकाबले यहां का एयरपोर्ट खाली रहता है। इसके चलते यह घाटे का सौदा बनने की ओर अग्रसर है।

 

 

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned