बोले कांग्रेस नेता: नहीं देंगे दल-बदलुओं और भागने वाले को टिकट

कांग्रेस का स्वाधीनता आंदोलन से देश के विकास में योगदान रहा है। दल-बदलुओं, पैसे की चमक में खोने और कुर्सी के प्रति मोह रखने वालों को निकाय चुनाव में तवज्जो नहीं मिलेगी।

By: raktim tiwari

Published: 12 Jan 2021, 09:16 AM IST

अजमेर.

कांग्रेस पर्यवेक्षक हरिमोहन शर्मा ने कहा कि दल-बदलुओं और पैसे की चमक में खुद को बेचने वाले को निकाय चुनाव में टिकट नहीं मिलेगा। कांग्रेस के कर्मठ-निष्ठावान कार्यकर्ताओं और युवाओं को अवसर दिया जाएगा। ताकि निकायों में कांग्रेस के बोर्ड बन सकें। शर्मा ने अजमेर क्लब में पत्रकार वार्ता में यह बात कही।

तीस साल से नगर निगम में कांग्रेस का बोर्ड नहीं बनने पर शर्मा ने चिंता जताई। उन्होंने 'गुटबाजी शब्द का प्रयोग किए बगैर कहा कि अजमेर के नेताओं और स्थानीय नेतृत्व को सोचना चाहिए कि आखिर कमी कहां छूट रही है। कांग्रेस का स्वाधीनता आंदोलन से देश के विकास में योगदान रहा है। दल-बदलुओं, पैसे की चमक में खोने और कुर्सी के प्रति मोह रखने वालों को निकाय चुनाव में तवज्जो नहीं मिलेगी।पार्टी के प्रति सच्ची निष्ठा, रीति-नीति पर चलने और सकारात्मक सोच रखने वाले कार्यकर्ताओं और युवाओं को अवसर देने के पक्षधर हैं।

एक जाजम पर लाएंगे नेताओं को
कार्यकर्ताओं के गहलोत-पायलट खेमे में बंटने के सवाल पर शर्मा ने कहा कि कांग्रेस किसी व्यक्ति/खेमे से ऊपर है। प्रदेश कार्यकारिणी, जिला/ब्लॉक-पंचायत स्तर सभी पुराने और नए कार्यकर्ताओं को एक जाजम लाया जाएगा। सभी नेताओं के सहयोग से निकाय चुनाव में कामयाबी मिलेगी। पार्टी में कोई गुटबाजी नहीं है, केवल विचारों का अन्तर है। केकड़ी-सरवाड़ में चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, किशनगढ़ में विधायक सुरेश टाक, बिजयनगर में विधायक राकेश पारीक और अजमेर में पूर्व विधायकों, चुनाव लड़े प्रत्याशियों और निवर्तमान कार्यकर्ताओं की रायशुमारी से टिकट फाइनल होंगे। सामूहिक नेतृृत्व जो पैनल-नाम तय करेगा उनको तवज्जो दी जाएगी।

संगठन में दिखेगा व्यापक बदलाव
शर्मा ने कहा शीघ्र कांग्रेस संगठन में व्यापक बदलाव देखने को मिलेगा। नव गठित प्रदेश कार्यकारिणी इसकी बानगी है। शहर, जिला, ब्लॉक और पंचायत स्तर पर कांग्रेस की विचारधारा को बढ़ाने वाले योग्य कार्यकर्ताओं को संगठन में जगह मिलेगी। दूसरी पार्टियों की नीति, धर्म-संप्रदाय और विद्वेष की बातें करने वालों को जगह नहीं मिलेगी।

क्यों नहीं चमका अजमेर...
अजमेर नगर परिषद/निगम में तीस साल से भाजपानीत बोर्ड की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए शर्मा ने कहा कि बड़े-बड़े वायदे करने वाले स्थानीय नेता अपने शहर को नहीं चमका सके। आपको चमकते शहर का मॉडल देखना है तो कोटा आइए। स्वायत्तशासी मंत्री शांति धारीवाल ने कोटा को विकसित शहर में तब्दील किया है। कांग्रेस का बोर्ड बनने पर अजमेर को भी कोटा की तर्ज पर हाईटेक और विकसित शहर बनाया जाएगा।

Congress
raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned