18 माह में पूरा करना होगा मेडिकल कॉलेज का निर्माण

192 करोड़ की वित्तीय व प्रशासनिक स्वीकृति जारी

आधुनिक तकनीक से होगा काम

By: bhupendra singh

Updated: 21 Aug 2021, 09:44 PM IST

अजमेर. कायड़ में प्रस्तावित नवीन मेडिकल कॉलेज भवन का निर्माण 18 माह में होगा। निर्माण कार्य जल्द पूरा करने के लिए आधुनिक तकनीक अपनाई जाएगी। इसके लिए अजमेर विकास प्राधिकरण को कार्यकारी एजेंसी बनाया गया है। मेडिकल कॉलेज निर्माण के लिए करीब 193 करोड़ रूपए की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति जारी की गई है। चिकित्सा विभाग ने अजमेर विकास प्राधिकरण कार्यकारी एजेंसी नियुक्त किया है। चिकित्सा शिक्षा विभाग एवं अजमेर प्राधिकरण के बीच मेमोरेंडम ऑफ एक्सेप्टेंस संपादित करवा कर 18 अगस्त को डीपीआर बनाने के लिए निविदा जारी की गई है।

21 नहीं 18 महीने में बनाओ

चिकित्सा मंत्री ने 16 अगस्त को बैठक कर नवीन मेडिकल कॉलेज के कार्य को शीघ्र करवाने हेतु निर्देश दिए थे। निर्माण कार्य की समय सीमा को भी कम करके डीपीआर स्वीकृत होने के बाद 21 माह के स्थान पर 18 माह निर्धारित कर मेडिकल कॉलेज निर्माण कार्य जून 2023 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए गए हैं।
यह होगी खासियत

कायड़ क्षेत्र में 22.84 हेक्टेयर (155 बीघा) भूमि पर नया मेडिकल कॉलेज भवन बनेगा। यहां से एमएस, एमडी, व एमबीबीएस की पढ़ाई होगी। मेडिकल कॉलेज के बीच से हाईवे भी निकल रहा है। यह राज्य का पहला मेडिकल कॉलेज होगा जो 100 बीघा से अधिक में बनेगा। इसके पास 500 बेड व 100 बीघा से अधिक में बना हुआ अस्पताल है। वर्तमान में 128 बीघा में मेडिकल कॉलेज व अस्पताल का संचालन किया जा रहा है।

फैक्ट फाइल
अंग्रेजों ने अजमेर में 1914 में अजमेर में विक्टोरिया अस्पताल बनया। केन्द्र सरकार ने 1965 में बना मेडिकल कॉलेज अजमेर को दिया। वर्तमान जेएलएन अस्पताल व मेडिकल कॉलेज में न्यूरो, हार्ट, यूरोलॉजी सहित अन्य विभागों को बिखरे हुए भवनों में चलाया जा रहा है। मेडिकल कॉलेज नए भवन में संचालित होने से वर्तमान मेडिकल कॉलेज भवन का उपयोग अस्पताल के लिए हो सकेगा।

read more: स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट: 20 मिनट के म्यूजिकल फाउंटेन शो के नाम पर 2 करोड़ खर्च

bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned