Corona Impact: ऑनलाइन मनाया पृथ्वी दिवस, ना रैली ना कार्यक्रम

सोशल मीडिया पर पृथ्वी दिवस से जुड़े कार्यक्रमों में हिस्सा लिया।

By: raktim tiwari

Published: 23 Apr 2020, 09:03 AM IST

अजमेर.

शहर में पृथ्वी दिवस ऑनलाइन मनाया गया। लॉकडाउन के कारण ना कोई रैली ना कार्यक्रम हुए। पर्यावरण विशेषज्ञों, शिक्षकों और आमजन ने सोशल मीडिया पर पृथ्वी दिवस से जुड़े कार्यक्रमों में हिस्सा लिया।

पृथ्वी दिवस पर हमेशा शहर में महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय, स्कूल, कॉलेज, वन विभाग और अन्य संस्थानों में कार्यक्रम होते हैं। इस बार लॉकडाउन के चलते सामूहिक कार्यक्रम नहीं हुए। हालांक लॉकडाउन ने धरती को सम्बल दिया है।

Read More: Corona effect: समय पर कॉपी चैकिंग और रिजल्ट निकलना चुनौती

ऑनलाइन मनाया पृथ्वी दिवस
मदस विवि के पर्यावरण विज्ञान विभागाध्यक्ष ने ऑनलाइन संदेश में कहा कि ग्लोबल वार्मिंग से पृथ्वी पर जबरदस्त असर पड़ा है। नदियों-झीलों में प्रदूषण, बदलते मौसम इसके परिचायक हैं। लेकिन लॉकडाउन से पर्यावरण वन्य जीवों-पक्षियों की जीवनचर्या में बदलाव दिख रहा है।

अजमेर में एयर क्वालिटी इंडेक्स भी सुधरा है। लेकिन यह अस्थाई प्रभाव है। इसी तरह वन विभाग, सामाजिक संस्थानों ने पृथ्वी दिवस पर ऑनलाइन पेंटिंग, कविताएं और अन्य कार्यक्रम किए।

Read More: वाह रे राशन डीलर वाह : जो दुनिया में नहीं उनके नाम बांटा गेहूं, बाहरी लोगों के नाम भी

हमें करने पड़ेंगे ये उपाय
-सप्ताह या महीने में एक दिन नहीं चलाएं वाहन
-खाली भूमि पर लगाएं छायादार-फलदार पौधे
-जलाशयों में कचरा और गंदगी फैंकनी करनी होगी बंद
-आदतों में बदलाव कर प्रकृति से करनी पड़ेगी दोस्ती
-शहरों में ग्रीन बैल्ट सुरक्षित रखना होगा जरूरी

करना होगा इंतजार, सुपर कफ्र्यू ग्रस्त इलाकों में है बुक्स शॉप

अजमेर. केंद्र सरकार ने किताबों की दुकान खोलने की इजाजत दी है लेकिन कई शहर ऐसे हैं जहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है। अजमेर में किताबों-स्टेशनरी की अधिकांश दुकानें पुरानी मंडी क्षेत्र में है। यह इलाका सुपर कफ्र्यू के दायरे में है।

लॉकडाउन के चलते देशभर में कॉलेज-यूनिवर्सिटी और बोर्ड की परीक्षाएं प्रभावित है। इनमें सीबीएसई, राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड और अन्य संस्थानों के छात्र-छात्राएं हैं। विद्यार्थियों को जेईई मेन, जेईई एडवांस और नीट परीक्षा देनी है। साथ पहली से आठवीं तथा नवीं-ग्यारहवीं के विद्याार्थियों की पढ़ाई भी ढंग से शुरू नहीं हुई है।

कैसे मिलेंगी किताबें-कॉपियां
सीबीएसई से जुड़े स्कूल में एनसीईआरटी और निजी प्रकाशकों की विषयवार किताबें संचालित हैं। अजमेर सभी स्कूल ने बुक स्टोर तय कर रखे हैं। विद्यार्थियों को किताबें अलवर गेट, माकड़वाली रोड, पुरानी मंडी, केसरगंज, वैशाली नगर और अन्य स्थानों पर मिलती हैं। केंद्र सरकार ने किताब-स्टेशनरी की दुकान खोलने की इजाजत दी है। लॉकडाउन के चलते अजमेर में बाजार-दुकानें बंद हैं। ऐसे में किताबें नहीं मिल पा रही है।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned