डायबिटीज के मरीजों के लिए जानलेवा साबित हो रहा कोरोना

जेएलएन अस्पताल में कुल सात मौतों में चार को थी डायबिटीज

By: CP

Published: 28 May 2020, 07:48 PM IST

अजमेर. जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में कोरोना संक्रमण के चलते अब तक सात जनों की मौत हो चुकी है। इनमें भी चार मरीजों की मौत का कारण कोरोना के साथ डायबिटीज बताया गया है। मेडिकल कॉलेज प्रशासन की ओर से इसकी पुष्टि की गई है। अजमेर में उपचार के दौरान कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत के आंकड़े बढऩा चिंताजनक भी है। जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के इस अस्पताल में पिछले एक माह में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढऩे के साथ ही संक्रमित मरीजों की मौत के आंकड़े भी बढ़े हैं। मगर मेडिकल कॉलेज की रिपोर्ट के मुताबिक चार मरीजों की मौत की वजह में कोरोना के साथ डायबिटीज बताई गई है। उधर, आंकड़ों के खेल में चिकित्सा विभाग भी उलझा हुआ है। कुल सात में से पांच मौतें अजमेर की मानी जा रही है। जबकि यह अजमेर के ही अस्पताल में हुई है। वहीं मौतों की प्रमुख वजह कोरोना की जगह अन्य बीमारियों को भी शामिल किया जा रहा है।

चिकित्सा विभाग ने अजमेर में यह बताई मौतें

-2 मई को नला बाजार निवासी 45 वर्षीय व्यक्ति की मौत।
-6 मई को होलीदड़ा निवासी 65 वर्षीय व्यक्ति की मौत।
-7 मई को रेलवे स्टेशन पर रहने वाले 60 वर्षीय व्यक्ति (खानाबदोश)।
-10 मई को देहली गेट के पास से आने वाली बिहार निवासी 17 वर्षीय किशोरी की मौत।
-24 मई को नला बाजार अजमेर निवासी 76 वर्षीय बुजुर्ग की मौत।
दो अन्य की भी हुई मौत
-4 मई को जयपुर जिले के दूदू खाजपुरा निवासी 55 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गई। मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने मरीज कोरोना के साथ गैंगरीन व सेप्टीसिमिया से पीडि़त बताया गया।
-25 मई को गुजरात (झुंझुनूं मूल) निवासी की मौत।

CP Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned