निगम ने तीन निर्माण किए सीज, मचा हडक़म्प

कहीं बिना स्वीकृति के तो कहीं नहीं छोड़ा सेटबैक

By: himanshu dhawal

Published: 28 Aug 2020, 02:00 AM IST

अजमेर. नगर निगम ने अवैध निर्माणों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। निगम की टीम ने गुरुवार को तीन अवैध निर्माण सीज किए। कार्रवाई शुरू होते ही अवैध निर्माणकर्ताओं में हडक़ंप मच गया।

शहर में कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन के दौरान और उसके बाद अवैध निर्माणों की बाढ़ आ गई है। निगम के अधिकारियों ने बिना स्वीकृति और नियमविरूद्ध हो रहे निर्माण कार्यों का सर्वे करवाया। अवैध निर्माणों को चिन्हित कर नोटिस दिए गए। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर नगर निगम के अतिक्रमण हटाओ दस्ते ने उपायुक्त गजेन्द्र सिंह रलावता के नेतृत्व में तीन अवैध निर्माणों को सीज किया। कार्रवाई के दौरान सचिव पवन मीणा, असेसर पुरुषोत्तम पंवार, एईएन रमेश चौधरी, पिंकी सिंघारिया, योगेन्द्र शेखावत, आरआई सत्यनारायण बोहरा सहित आदर्शनगर, रामगंज थाना और पुलिस लाइन का जाप्ता मौजूद रहा।

केस 1

बालुपुरा रोड, जैन मंदिर की गली में सचिन और अंकुर चौहान ने निर्माणाधीन भवन के स्वीकृत मानचित्र जी प्लस वन के विपरीत सेटबैक कवर कर लिफ्ट बना ली। साथ ही बॉलकनी निकाल ली। निर्माणकर्ताओं को 22 जून को नोटिस दिया और 21 जुलाई को व्यक्तिगत सुनवाई की गई। कार्रवाई के दौरान निर्माणकर्ताओं ने कोर्ट का स्टे होने की बात कही। निगम के विधि अधिकारी की रिपोर्ट पर सीज किया गया।

केस 2

शहर के ब्यावर रोड पुलिया के नीचे हाई बिना स्वीकृति के एक दुकान का निर्माण कर लिया गया। निर्माणकर्ता नवीन भाई को निगम की ओर से 22 जून को नोटिस दिया गया और 18 जुलाई को व्यक्तिगत सुनवाई का मौका भी दिया गया था।

केस 3

ब्यावर रोड एचएमटी के सामने न्यू ओवर ब्रिज के पास बिना स्वीकृति के भूतल पर 3 दुकानों का निर्माण पूर्ण सेटबैक कवर करते हुए किया जा रहा है। निर्माणकर्ता लक्ष्मण को 16 जून को नोटिस और 21 जुलाई को व्यक्तिगत सुनवाई का मौका दिया था।

himanshu dhawal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned