ayodhya case: देश को फैसला स्वीकार - अजमेर दरगाह दीवान

Yuglesh Sharma

Updated: 11 Nov 2019, 07:06:05 AM (IST)

Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

अजमेर. पूरे विश्व में आस्था का केन्द्र सूफी संत ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह (ajmer dargah) के दीवान (dargah diwan) सैयद जेनुअल आबेदीन अली ने कहा कि अयोध्या (ayodhya) के बरसों पुराने विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को देश के सभी लोगों को स्वीकार करना चाहिए। यह किसी पक्ष की जीत अथवा किसी पक्ष की हार नहीं बल्कि पूरी तरह से न्याय पालिका की जीत है। सर्वोच्च न्यायालय ने अपने विवेक से जो फैसला किया है, वह सर्वमान्य है।

READ MORE : अयोध्या पर अजमेर दरगाह से बड़ा बयान


दरगाह दीवान ने शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि इस एेतिहासिक फैसले के बाद अब यह विवाद पूरी तरह खत्म हो चुका है। अब समय आ गया है कि देश की तरक्की और नई पीढ़ी की बेहतरी के लिए सभी मिलकर काम करें। उन्होंने कहा कि यह देश की 133 करोड़ जनता के लिए एेतिहासिक दिन है।

READ MORE : पूरे देश में खुलेंगे सूफी इंस्टीट्यूट

अमन बनाए रखनें में करें मदद
सैयद आबेदीन अली ने कहा कि पैगम्बर हजरत मुहम्मद साहब का जन्मदिन का मौका है। वे महज सभी धर्म के लोगों को मुहब्बत, भाईचारा और एकता का संदेश देने के लिए तशरीफ लाए थे। ख्वाजा गरीब नवाज ने भी लोगों को यही पैगाम दिया। देश के सभी सम्प्रदाय के लोग सुप्रीम कोर्ट के फैसले को स्वीकार करें। किसी की धार्मिक आस्था को ठेस नहीं पहुंचे इसके लिए सब मिलकर पूरे विश्व में मिसाल पेश करें।

उन्होंने कहा कि देश की सभी दरगाहों के सज्जादानशीन को उन्होंने पूर्व में ही अपील जारी कर दी थी कि अपने-अपने क्षेत्र में अमन चैन बनाए रखने में मदद करें और माहौल बिगडऩे नहीं दें।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned